comScore
Dainik Bhaskar Hindi

राज्य महिला आयोग की पहल, घर-घर जाकर जागरूक करेंगी सखी

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 04th, 2018 21:09 IST

1k
0
0
राज्य महिला आयोग की पहल, घर-घर जाकर जागरूक करेंगी सखी

डिजिटल डेस्क, दमोह। महिलाओं और लड़कियों के साथ हो रहे अपराधों और शोषण के खिलाफ जागरूक करने के लिए राज्य महिला आयोग समूचे प्रदेश में नवाचार करने जा रहा है जिसमें आयोग नृत्य नाटिका और अन्य मनोरंजन प्रयासों के माध्यम से समूचे जिले में नृत्य नाटक आयोजित करेगा।इसमें आयोग की ओर से जिला एवं ब्लॉक स्तर पर गठित समितियां भी अपना सहयोग करेंगी।

मां पर आधारित होगी नृत्य नाटिका की थीम
इस अभियान में महिलाओं को उनके साथ होने वाले अपराधों से सावधान रहने के लिए तैयार किया जाएगा। उन्हें नुक्कड़ नाटक के साथ विषय विशेषज्ञों द्वारा जीवन जीने की कला के बारे में भी बताया जाएगा। राज्य महिला आयोग का प्रयास है कि महिलाएं अपने साथ दैनिक जीवन में होने वाले अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठा सकें। इसके लिए प्रत्येक जिले के कलाकारों का चयन टीम के लिए किया जा रहा है जिसमें 20 महिला की टीम गठित की जाएगी। प्रत्येक महीने जिले में नृत्य नाटिका का आयोजन भी किया जाएगा।

सखी संगिनी करेंगे जागरूक
महिला आयोग ने इस मामले में कई नामों से समितियां बनाई है। जिला एवं ब्लॉक स्तर पर गठित महिला आयोग की समितियां सिर्फ महिलाओं की समस्याएं ही नहीं सुनेंगे बल्कि अब उनके अधिकारों के संरक्षण के प्रति जागरूक भी करेंगे। समितियां भी ब्लॉक स्तर पर नृत्य नाटिका तैयार करेंगे।इनमें मुक्ति समिति करुणा समिति दिव्या समिति सलाहकार समिति सखी संगिनी और आनंद समिति शामिल हैं ब्लॉक स्तर पर सखी संगिनी समिति महिलाओं की शिकायत सुनने के अलावा जागरूक कार्यक्रम भी चलाएंगे जिसमें महिलाओं और लड़कियों में जागरूकता आ सकें।

जिला एवं ब्लॉक स्तर पर समितियां चुनेंगी टीम
समिति भी नृत्य नाटिका के लिए टीम तैयार करेगी और प्रस्तुति की जिम्मेदारी भी ले इसके लिए अपने-अपने ब्लॉक में समितियां नृत्य नाटिका समस्याओं पर आयोजित करेंगे जिससे उन्हें जागरूक किया जा सके।

आयोग गठित करेगा अलग कमेटी
महिलाओं के साथ छेडख़ानी अश्लील कमेंट्स और अभद्र व्यवहार से संबंधित शिकायतों की सुनवाई के लिए मध्य प्रदेश राज्य महिला आयोग में अलग से कमेटी गठित की जाएगी।कामकाजी महिलाएं युवतियों और कॉलेज की छात्राओं की ओर से उनके साथ पुरुषों द्वारा की जाने वाली छेडख़ानी अश्लील कमेंटस और अभृद् व्यवहार  से संबंधित शिकायतों की सुनवाई अब यह कमेटी करेगी।

इनका कहना है
महिलाओं के प्रति ऐसे अपराधों से संबंधित मामलों में महिलाओं को तुरंत न्याय दिलाने की प्रक्रिया शुरू करने के उद्देश्य इस प्रकार की कमेटी का गठन किया जा रहा है।
 लता वानखेडे -अध्यक्ष- मध्य प्रदेश राज्य महिला आयोग

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें