comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मजदूर लगाकर कर रहे कोयले का उत्खनन, ग्राम दानवा बाकोड़ी में माफिया सक्रीय

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 13th, 2019 23:21 IST

1k
1
0
मजदूर लगाकर कर रहे कोयले का उत्खनन, ग्राम दानवा बाकोड़ी में माफिया सक्रीय

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। वेकोलि नई खदानें खोलने भले ही देरी लगा रहा हो, लेकिन जिले में माफिया सक्रीय हैं। माफियाओं ने तवा नदी के किनारे ग्राम दानवा बाकोड़ी के पास एक कोयला खदान खोज निकाली है। मजदूर लगाकर अवैध रूप से उत्खनन भी शुरू कर दिया है। जबकि परिवहन ट्रैक्टर ट्रालियों से जंगल के रास्ते हो रहा है। बैतूल परासिया स्टेट हाईवे से करीब दो सौ मीटर दूरी पर बसे गांव के नजदीक अवैध उत्खनन काले पत्थर के साथ कोयला भी बाहर निकाला जाता है। इसके बाद इसमें से मजदूर कोयले को छांटते हैं। छंटान को ट्रैक्टर ट्राली के रास्ते बाहर भेजा जाता है। तस्करी में पूरा गिरोह काम कर रहा है। माइनिंग समेत अन्य जिम्मेदार विभागों की नजरें अभी यहां नहीं पड़ी है। जिसका पूरा फायदा माफिया उठा रहे हैं।

पहाड़ी खोदकर बना रहे खोह
अवैध रूप से उत्खनन करा रहे माफियाओं ने पहाड़ी को खोदकर खोह बना दी है। जो हादसे का बड़ा कारण बड़ा हादसा भी हो सकता है। खासबात यह कि खुदाई मजदूरों के जरिए गैंती का उपयोग किया जा रहा है। दर्जनों मजदूर मौके पर खुदाई करते नजर आते हैं। सूत्रों के मुताबिक ग्रामीण उक्त स्थल पर मवेशियों को लेकर भी पहुंचते हैं।

ट्राली में मिट्टी ढंककर जंगलों के रास्ते तस्करी
कोयले का परिवहन करने के लिए माफिया ट्रैक्टर ट्राली का उपयोग करते हैं। ट्राली के अंदर कोयला ऊपर से मिट्टी भरकर इसे परिवहन किया जा रहा है। अवैध कोयला छिंदवाड़ा लाने के बजाए बैतूल जिले के सारनी-पाथाखेड़ा क्षेत्र में ले जाकर खपाया जा रहा है। परिवहन के लिए जंगल के रास्ते को अपनाया जा रहा है।

तवा नदी किनारे कोयले का भंडार
अवैध खदानों ने इस बात का खुलासा जरूर कर दिया है कि तवा नदी के तराई वाले हिस्सों में कोयले का अपार भंडार है। छिंदवाड़ा की सीमा से लेकर बैतूल जिले के शाहपुर तक तवा नदी किनारे कोयले की कई अवैध खदानें चल रही हैं। यहां सक्रिय माफिया अवैध उत्खनन कर भोपाल और इंदौर तक कोयले की सप्लाई करता है। दानवा बाकोड़ी नई खदान बताई जा रही है।

इनका कहना है
कोयला अवैध उत्खनन के संबंध में जानकारी नहीं है। आज ही उस क्षेत्र में गए हुए थे। अब मौके पर जाकर जांच की जाएगी। अवैध उत्खनन सख्ती से रोका जाएगा।
मनीष पालेवार, जिला खनिज अधिकारी

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download