comScore

अब महिलाएं भी संभालेंगी बसों की स्टीयरिंग

March 11th, 2019 13:19 IST
अब महिलाएं भी संभालेंगी बसों की स्टीयरिंग

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने वाली महिलाएं अब बस भी चलाने वाली हैं। जी हां महाराष्ट्र मेंं ऐसा होने जा रहा है।  राज्य परिवहन निगम की बसों को चलाने के लिए महाराष्ट्र में पहली बार महिलाओं को चुना जाएगा। एमएसआरटीसी की बसों की स्टीयरिंग थामने के लिए 743 आवेदकों को शॉर्टलिस्ट किया गया है, इनमें नागपुर की भी कई महिलाएं शामिल हैं। एमएसआरटीसी में फिलहाल 4500 महिला कंडक्टर हैं, लेकिन एक भी महिला ड्राइवर नहीं है। 

8022 पद के लिए होगी भर्ती
एमएसआरटीसी की तरफ से जारी आवेदन में ड्राइवर पोस्ट कैटिगरी को 'ड्राइवर-कम-कंडक्टर' के तौर पर जारी किया गया है। महिलाओं को जरूरत के हिसाब से किसी भी शिफ्ट में काम करने को कहा जा सकता है। महिलाएं चयन से कुछ ही कदम की दूरी पर हैं। चुनी गईं महिलाओं की उम्र 21 से 30 साल के बीच में है। कम से कम दसवीं पास की शैक्षणिक योग्यता रखने वाली हैं और उन्हें भारी गाड़ियों को चलाने का अनुभव है। फिलहाल उम्मीदवारों के डॉक्युमेंट की स्क्रूटनी की जाएगी और सर्टिफिकेट्स को क्रॉस चेक किया जाएगा। मेडिकल जांच के बाद अपॉइंटमेंट लेटर दिया जाएगा।' 8,022 पोस्ट के लिए भर्ती होनी है, जिसमें से 30 प्रतिशत पद महिलाओं के लिए रिजर्व हैं। सभी महिलाओं को भारी गाड़ी चलाने, सड़क सुरक्षा, टेक्निकल मुद्दों के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी और उन्हें घर के नजदीक के डिपो में तैनात किया जाएगा, जिससे एक साल के ट्रेनिंग पीरियड में वे अपने घर के साथ ही रह सकें।

बड़ी संख्या में प्राप्त हुए आवेदन
उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में मेट्रो से लेकर बसों में कंडक्टर के तौर पर महिलाएं कार्यरत हैं लेकिन बसों की कमान संभालने के लिए पहली बार महिलाओं का चयन किया जा रहा है। बस ड्राइवर के होनी वाली भर्ती के लिए महिलाओं का अच्छा खासा प्रतिसाद मिल रहा है। बड़ी संख्या में इसके लिए आवेदन प्राप्त हुए हैं।

कमेंट करें
AZBMw