comScore

सिर, हाथ- पैर काटकर तालाब में फेंका शव मिला, दूसरे मामले में थाने से फरार हुई महिला आरोपी

सिर, हाथ- पैर काटकर तालाब में फेंका शव मिला, दूसरे मामले में थाने से फरार हुई महिला आरोपी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गांधीसागर तालाब में एक युवक की सिर कटी लाश मिली। उसके दोनों हाथ और पैर भी नहीं थे। गुरुवार को पुलिस ने लाश के शरीर के बाकी हिस्से भी बरामद कर लिए। परिसर में दुर्गंध फैलने पर पुलिस को इस घटना के बारे में जानकारी मिली। सिर कटी लाश को प्लास्टिक की बोरी के अंदर भरकर पागे उद्यान के पास दाहिनी ओर फेंका गया था। घटना से परिसर में सनसनी फैल गई। घटनास्थल पर गणेशपेठ के वरिष्ठ थानेदार सुनील गांगुर्डे सहयोगियों के साथ पहुंचे। 

सीसीटीवी कैमरा खंगाल रही पुलिस

पुलिस विभाग के आला-अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। गांधीसागर में फेंकी गई सिर कटी लाश को गोताखोर जगदीश खरे ने बाहर निकाला। यह शव नग्न अवस्था में था। इससे कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं । पुलिस सूत्रों के अनुसार बुधवार की शाम करीब 6 बजे गांधीसागर तालाब परिसर में बने पागे उद्यान परिसर में टहलते समय नागरिकों को अजीब से दुुर्गंध आ रही थी। यह दुर्गंध इतनी दमघोटू थी कि कुछ लोग वहां से चले गए। कुछ नागरिकों ने दुर्गंध आने के बारे में गणेशपेठ पुलिस को जानकारी दी। यह जानकारी मिलते ही गणेशपेठ के वरिष्ठ थानेदार सुनील गांगुर्डे सहयोगियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे।

पुलिस ने गोताखोर जगदीश खरे को बुलाया। खरे ने तालाब के अंदर तैरती प्लास्टिक की बोरी को बाहर निकाला। बोरी को खोलने पर सभी के होश उड़ गए। बोरी के अंदर एक युवक की सिर कटी लाश थी। उसे बाहर निकालने पर पता चला कि उसके दोनों हाथ और पैर भी काट दिए गए थे। उसके हाथ और पैर गायब थे। यह देखते ही गांगुर्डे ने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी दी। घटनास्थल पर पुलिस उपायुक्त राहुल माकणीकर व अन्य पुलिस अधिकारी पहुंचे। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया। उसके बाद सिर कटी लाश को मेयो अस्पताल भेज दिया गया। यह लाश पूरी तरह सड़ चुकी थी। गणेशपेठ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की छानबीन शुरू की है। 

गुमशुदा लोगों के बारे में पूछताछ

गणेशपेठ के वरिष्ठ थानेदार गांगुर्डे का भी मानना है कि प्रथमदृष्टि में ही यह हत्या का मामला लग रहा है।  मृतक कौन है। उसका पता लगाने के लिए पुलिस के सामने बड़ी चुनौती है। इस शव की पहचान के लिए शहर के सभी थानों से गुमशुदा लोगों के बारे में पूछताछ कर जानकारी जुटाएगा। वरिष्ठ थानेदार गांगुर्डे ने बताया कि उसका सैंपल लेकर बिसरा रिपोर्ट के लिए शासकीय प्रयोगशाला में भेजा गया है। आखिर यह शव किसका है, जिसे इतनी बेरहमी से मारकर उसका शव गांधीसागर तालाब के अंदर फेंक दिया गया। गांधीसागर तालाब में इस तरह की संभवत: यह पहली घटना है। पुलिस मृतक से जुड़ी जानकारी के बारे में आस-पास के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाल रही है। पुलिस को उम्मीद है कि मृतक का पता चल जाएगा।

प्रतापनगर थाने से महिला फरार, चोरी के आरोप में थी पकड़ी गई

उधर  प्रतापनगर थाने की पुलिस को एक महिला आरोपी चकमा देकर फरार हो गई। इस महिला को पुलिस ने चोरी के आरोप में पूछताछ पकड़ा था। फरार महिला आरोपी का नाम शीलाबाई मदनलाल कुंभार (60) सुभाषनगर निवासी है। वह मूलत: तिरुपति बालाजी की निवासी बताई गई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रतापनगर पुलिस ने चोरी के एक मामले में गुरुवार को शीलाबाई कुंभार को पूछताछ के लिए पकडकर लाया था। उसे थाने में बैठाकर रखा गया था। थाने के कर्मचारी अपने- अपने काम में व्यस्थ थे। उसे पकडकर लाने वाले पुलिस कर्मियों का भी उसकी ओर ध्यान नहीं था। मौका पाकर वो वहां से गायब हो गई। मजे की बात तो यह है कि उसके गायब होने के बारे में पुलिस कर्मियों को भनक तक नहीं लगी। करीब आधे घंटे बाद पुलिस को उसके भागने की बात पता चली। उसे पकडकर लाने वाले कर्मचारियों के हाथ पांव फूल गए। थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुनील शिंदे के पैरों तले जमीन खिसक गई। उनसे आला अफसरों की पूछताछ शुरू कर दी। हालांकि थाने से महिला आरोपी के फरार होने की बात को प्रतापनगर पुलिस ने छिपाने की भरसक कोशिश की, हालांकि उनका यह प्रयास असफल रहा। महिला के थाने से गायब होने की बात उजागर हो गई। शिंदे ने बताया कि उसे गिरफ़्तार नहीं किया गया था। उसे चोरी के एक मामले में संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर थाने में लाया गया था। महिला की तलाश में पुलिस जुटी हुई थी।
 

कमेंट करें
btVSG