comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'नीच' ही नहीं, मोदी को सांप, बिच्छू और जोकर भी कह चुके हैं अय्यर

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 08th, 2017 18:28 IST

2.7k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गुजरात में विधानसभा चुनाव के लिए पहले फेस की वोटिंग 9 दिसंबर को होनी है और गुरुवार शाम को 182 में से 89 सीटों पर चुनाव प्रचार थम भी गया। इस बीच कांग्रेस लीडर मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए 'नीच' शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि 'मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत 'नीच' किस्म का है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या जरूरत है?' इसके बाद पीएम मोदी ने भी इसको चुनावी मुद्दा बना दिया और मणिशंकर की बात को 'गुजरातियों के अपमान' से जोड़ दिया। हालांकि बाद में कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी के कहने पर मणिशंकर ने माफी भी मांगी और उन्हें कांग्रेस से सस्पेंड भी कर दिया गया। ये कोई पहली बार नहीं है, जब मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के खिलाफ इस तरह की 'विवादित भाषा' का इस्तेमाल किया हो। इससे पहले भी कई बार मणिशंकर, मोदी के खिलाफ बयान दे चुके हैं और विवादों में घिर चुके हैं। 

मोदी को कहा 'चायवाला'

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस लीडर मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को 'चायवाला' कहा था। उन्होंने कहा था कि 'मैं आपसे वादा करता हूं कि 21वीं सदी में नरेंद्र मोदी इस देश के प्रधानमंत्री कभी नहीं बन पाएंगे, लेकिन अगर वो यहां आकर चाय बेचना चाहते हैं, तो हम उन्हें इसके लिए जगह दिला सकते हैं।

मोदी की विदेश यात्राओं पर तंज

प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राओं पर भी मणिशंकर अय्यर ने तंज कसा। उन्होंने कहा था कि 'ये सब ड्रामेबाजी है और वो हर जगह खुद को दिखाना चाहते हैं। दुनियाभर में घुमते हैं, उससे क्या होता है?' उन्होंने इसके आगे कहा था कि 'उन्हीं के सपोटर्स हर पहुंच जाते हैं और मोदी-मोदी कहते रहते हैं। ये मोदी-मोदी कहलवाना कोई विदेश नीति है क्या?'

पीएम को बताया 'सांप-बिच्छू'

इससे पहले मार्च 2013 में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग हुई। इस मीटिंग में तब के गुजरात सीएम नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को 'दीमक' कहकर बुलाया था। इसके बाद मणिशंकर अय्यर ने कहा कि 'मोदी ने हमें दीमक बुलाया है न, तो मैं कहता हूं कि वो एक सांप और बिच्छू हैं और ऐसे गंदे आदमी की तरफ से आलोचना हुई तो ये अपने आप में खुशी की बात है।

मोदी को कहा 'जोकर'

इसके बाद 2013 के दिसंबर में नरेंद्र मोदी को अय्यर ने 'जोकर' बताया था और कहा था कि '4-5 भाषण देकर उन्होंने बता दिया है कि उनके मुंह में कितने गंदे-गंदे शब्द हैं। उन्हें न तो इतिहास का पता है और न ही अर्थशास्त्र का। न ही संविधान की कोई जानकारी है। बस जो मुंह में आता है, बोलते रहते हैं।

मनमोहन पर भी कर चुके हैं हमला

ऐसा नहीं है कि मणिशंकर अय्यर बस बीजेपी और मोदी पर ही हमला करते हों। इसके अलावा वो कई मौकों पर अपनी ही पार्टी को भी घेर चुके हैं। 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स में हुए घोटाले पर जब सवाल उठे और उस समय के पीएम मनमोहन सिंह ने जांच का भरोसा दिलाया तो इसके बाद मणिशंकर अय्यर ने मनमोहन सरकार को ही घेर लिया। उन्होंने कहा था कि 'प्रधानमंत्री ने कहा है कि खेल खत्म होते ही जो गलतियां हुई हैं और जो खामियां रहीं हैं, उसकी जांच की जाएगी। अगर किसी किस्म का करप्शन हुआ है, तो उसको सामने लाया जाएगा। मैं उम्मीद रखता हूं कि अब जबकि ये सर्कस खत्म हो चुका है, तो इसकी जांच शुरू की जाए।

पीएम को 'नीच' कहने पर राहुल ने क्या कहा? 

मणिशंकर का बयान सामने आने के बाद कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट और जल्दी ही पार्टी की कमान संभालने वाले राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया। राहुल के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से किए गए इस ट्वीट में लिखा था 'बीजेपी और प्रधानमंत्री रोज कांग्रेस पर हमला करने के लिए गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है। पीएम के लिए मणिशंकर अय्यर ने जिस भाषा का इस्तेमाल किया, मैं उसे ठीक नहीं मानता हूं। कांग्रेस और मैं दोनों, उनसे इसके लिए माफी की उम्मीद करते हूं।

पीएम ने क्या दिया जवाब? 

मणिशंकर अय्यर का बयान सामने आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे 'गुजरातियों के अपमान' से जोड़ दिया। पीएम ने एक रैली में कहा कि 'उन्होंने मुझे नीच कहा। हां, मैं समाज के गरीब तबके से आता हूं और मैंने अपनी जिंदगी में हर वक्त गरीबों, दलितों, आदिवासियों और ओबीसी तबके के लिए काम किया है। वो अपनी भाषा अपने पास रखें और हम अपना काम करते रहेंगे।' पीएम ने ये भी कहा कि इसका जवाब जनता बैलेट बॉक्स के जरिए देगी। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर