comScore

एग्जाम के लिए बंटने वाले टिकटों में भारी गलतियां ,स्टूडेंट्स हो रहे परेशान

November 23rd, 2018 18:16 IST
एग्जाम के लिए बंटने वाले टिकटों में भारी गलतियां ,स्टूडेंट्स हो रहे परेशान

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय की शीतकालीन एग्जाम जारी हैं। जल्द ही एग्जाम का चौथा चरण शुरू होगा। एग्जाम के लिए बंटने वाले हॉल टिकटों में इस बार भी बड़ी गलतियां देखने को मिल रही हैं। हर बार की तरह इस बार भी हॉल टिकटों पर कई स्टूडेंट्स की गलत तस्वीरें छप कर आई हैं। पूर्व में भी स्टूडेंट्स ने इस तरह की शिकायतें की थीं। ऐसी ही गलतियां इस बार भी जारी है। ऐसे में एग्जाम के एन वक्त पर स्टूडेंट्स को प्रवेश पत्र ठीक कराने के लिए एग्जाम सेंटर में अपना समय खराब करना पड़ रहा है। यूनिवर्सिटी के प्र-कुलगुरु डॉ. प्रमोद येवले के मुताबिक अब तक किसी भी विद्यार्थी ने उनसे इस तरह की शिकायत नहीं की है, लेकिन फिर भी इस मामले में गलती स्वयं स्टूडेंटस या कॉलेज की है या फिर यूनिवर्सिटी के हॉल टिकट तैयार करने वाली प्रोमार्क कंपनी की, इसकी जांच की जाएगी। कंपनी दोषी पाए जाने पर अनुबंध केे अनुसार उस पर फाइन लगाया जाएगा।

एग्जाम के एक दिन पहले बांटे जा रहे हॉल टिकट
यूनिवर्सिटी की एग्जाम प्रणाली में एक ओर खामी देखने को मिल रही है। जिन पाठ्यक्रमों की एग्जाम्स होती हैं, उसके ठीक एक दिन पूर्व स्टूडेंट्स को हॉल टिकट मिल रही हैं। 27 नवंबर से एग्जाम्स का चौथ चरण शुरू हो रहा है। इसके हॉल टिकट अभी तक स्टूडेंट्स को नहीं मिले हैं। शुक्रवार को यूनिवर्सिटी में अवकाश है और इसके बाद शनिवार और रविवार है। ऐसे में मंगलवार से शुरू होने वाली एग्जाम्स के लिए सोमवार के दिन ही स्टूडेंट्स को हॉल टिकट मिल सकेंगे, अगर सोमवार को मिलने वाले हॉल टिकटों में कोई गड़बड हुई, तो अधिकांश स्टूडेंट उन्हें ठीक कराने के लिए परीक्षा भवन भी नहीं पहुंचा पाएंगे।

सीनेट में भी उठा था मुद्दा
हॉल टिकट में गड़बड़ियों का मुद्दा बीते दिनों हुई सीनेट की बैठक में भी उठा था। सीनेट सदस्यों का दावा था कि, स्टूडेंट्स द्वारा भरी गई सही जानकारी के बाद भी उनकी अंकसूची में भारी गड़बड़ियां देखने को मिलती हैं। पूर्व में करीब 1000 स्टूडेंट्स का जेंडर बदल गया था। इसमें से अधिकांश विद्यार्थी इंजीनियरिंग के थे। वहीं कई अनुपस्थित स्टूडेंट्स एग्जाम में पास कर दिए गए। इसमें सुधार के लिए स्टूडेंट्स एग्जाम भवन के कई चक्कर काटने पड़े। वहीं बार-बार गलती करने वाली प्रोमार्क कंपनी पर भी यूनिवर्सिटी कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

कमेंट करें
9cGzZ