comScore
Dainik Bhaskar Hindi

तवांग हेलिकॉप्टर क्रैश: शहीदों के शव पॉलिबैग में रखे, सेना ने मानी गलती

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 09th, 2017 15:09 IST

1.6k
0
0
तवांग हेलिकॉप्टर क्रैश: शहीदों के शव पॉलिबैग में रखे, सेना ने मानी गलती

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शुक्रवार को अरुणाचल प्रदेश के तवांग में हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए जवानों के शवों को पॉलिबैग और पेपर बॉक्स में रखे जाने की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विवाद हो गया है। लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने ट्विटर पर इस फोटो को शेयर किया, जिसके बाद प्रतिक्रियाओं की बाढ़ सी आ गई। सोशल मीडिया पर नाराजगी और आलोचना के बाद सेना को सफाई देने के लिए सामने आना पड़ा। सेना ने दावा किया आगे से शव ठीक तरीके से लाए जाएंगे।

जैसे ही ये मामला सुर्खियों में आया रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने दखल दिया और सेना ने जवाब दिया। हादसा शुक्रवार को हुआ था जब अरुणाचल प्रदेश में एयरफोर्स का एमआई-17 हैलिकॉप्टर तवांग में क्रैश हो गया था। घटना के वक़्त हेलिकॉप्टर एयर मेंटनेंस मिशन पर था और अग्रिम चौकियों पर सप्लाई पहुंचाने के दौरान यह हादसा हुआ। सप्लाई की चीजों में केरोसिन भी शामिल था, जिसे पैराशूट के जरिये उतारा जा रहा था। पैराशूट किसी कारण से हेलिकॉप्टर के रोटर से उलझ गया और यह हादसा हुआ। सेना के एक पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल ने रविवार को एक तस्वीर ट्वीट की, जिसमें शहीदों के शवों को पॉलिबैग में लपेट कर पेपर बॉक्स में रखा दिखाया गया था। 

गलती सामने आने पर सेना ने ट्वीट कर कहा कि शवों को स्थानीय संसाधनों में रख कर भेजा जाना असामान्य था। शहीदों को हमेशा पूरा सम्मान दिया गया है। आगे भी दिया जाएगा, अब से कोई ऐसी गलती न हो हम इसका ख्याल रखेंगे। उनके शवों को बॉडी बैग, लकड़ी के बक्से या ताबूत में ले जाया जाए, इसे सुनिश्चित किया जाएगा।
 

उधर सेना के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहीदों के लिए बॉडी बैग अथॉराइज नहीं किए गए हैं। जहां भी शवों का पोस्टमॉर्टम होता है, वहां लकड़ी के बक्से और ताबूत उपलब्ध हो जाते हैं। हेलिकॉप्टर 13000 फीट की ऊंचाई पर क्रैश हुआ था, वहां जाने के लिए सड़क तक नहीं थी। इसलिए हर जगह लकड़ी के बक्से नहीं ले जाए जा सकते हैं। सेना ने बताया कि हमारी कोशिश थी कि शवों को जल्द से जल्द वहां से हटाया जाए। तो उस वक़्त जो भी संसाधन उपलब्ध हो सका उसका सहारा लिया गया।

सेना ने इसे गलत सलूक बताया है और कहा है कि आगे से ऐसा न हो इसका ख्याल रखा जाएगा। उधर गौतम गंभीर ने ट्विटर के जरिए इसे शर्मानक बताया। क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट में लिखा, 'IAF क्रैश के शहीदों के शव।।।शर्मनाक! माफ़ करना ऐ दोस्त, जिस कपड़े से तुम्हारा कफन सिलना था, वो अभी किसी का बंद गला सिलने के काम आ रहा है!!!'

बता दें कि शुक्रवार को अरुणाचल प्रदेश में वायुसेना का एमआई 17 वी5 हेलिकॉप्टर सुबह 6 बजे के करीब तवांग के पास क्रैश हो गया था, जिसमें 7 सैनिक शहीद हो गए।
 


 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर