comScore
Dainik Bhaskar Hindi

खेल रत्न के लिए विराट से भिड़ेंगे एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स के मेडलिस्ट खिलाड़ी

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 13:17 IST

2.9k
3
0
खेल रत्न के लिए विराट से भिड़ेंगे एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स के मेडलिस्ट खिलाड़ी

News Highlights

  • इस साल के खेल पुरस्कारों के लिए खेल मंत्रालय ने लिया फैसला।
  • कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाड में जोरदार प्रदर्शन करने वाले एथलीट्स को भी लिस्ट में किया शामिल।
  • खेल पुरस्कारों के लिए मंत्रालय ने एथलीट्स के आवेदन की डेडलाइन 12 सितंबर तय की थी।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इस साल के खेल पुरस्कारों के लिए खेल मंत्रालय ने कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाड में जोरदार प्रदर्शन करने वाले एथलीट्स को भी लिस्ट में शामिल करने का फैसल किया है। इसके बाद अब इन पुरस्कारों की जंग रोचक हो गई है। मंत्रालय ने इन एथलीट्स के आवेदन के लिए 12 सितंबर तक की डेडलाइन तय की थी। इस डेडलाइन के बीतने तक टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा और टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ने अपना दावा पेश कर दिया है। 

कॉमनवेल्थ गेम्स में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले मनिका बत्रा ने एशियन गेम्स में भी ऐतिहासिक ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया है। वहीं रोहन बोपन्ना ने भी एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है। इससे पहले टेबल टेनिस फेडरेशन ने उनका नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा था। वहीं खेल पुरस्कारों के लिए एशियाड में गोल्ड मेडल जीतने वाले टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना का नाम भी पेश किया है। इनके अलावा एथलेटिक्स फेडरेशन ने हिमा दास, दुती चंद, स्वप्ना बर्मन, अरपिंदर, जिनसन जॉनसन ,मनजीत और तेजिंदर तूर की सिफारिश अर्जुन अवॉर्ड के लिए की है। 

खेल पुरस्कारों के लिए कौन-कौन हैं दावेदार

बीसीसीआई ने भी इस बार देश के सबसे बड़े खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न के लिए भारत के कप्तान और दूनिया के नंबर वन बल्लेबाज विराट कोहली के नाम की सिफारिश की है। इस पुरस्कार के लिए पहले ही कोहली के अलावा 14 और एथलीट पुरस्कार के लिए लिस्ट में अपना नाम जुड़वा चुके हैं। 

अब इस साल देश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार पाने के लिए कोहली की टक्कर जेविलन थ्रो के स्टार नीरज चोपड़ा, वेटलिफ्टर मीराबाइ चानू, बैडमिंटन स्टार के श्रीकांत और बॉक्सर विकास कृष्ण, मौमा दास, अभिषेक वर्मा, ज्योति सुरेखा जैसे दिग्गजों के साथ मनिका बत्रा और रोहन बोपन्ना भी पुरस्कार की दौड़ में शामिल हैं। 

इसके अलावा शूटिंग कोच जसपाल राणा का नाम द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए भेजा गया है। राही सरनोबत की सिफारिश अर्जुन अवॉर्ड के लिए की गई है। कुरश की खिलाड़ी पिंकी और नौकायन में कमाल दिखाने वाले दत्तू भोकनाल की सिफारिश भी अर्जुन अवॉर्ड के लिए की गई है। 

इतने ज्यादा दावेदारों की मौजूदगी के चलते यह भी मुमकिन है कि इस बार पुरस्कारों की संख्या को बढ़ा दिया जाए। अब तक के इतिहास में साल 2016 में रियो ओलिंपिक के बाद सबसे अधिक चार राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार दिए गए हैं। तब ओलिंपिक मेडलिस्ट पीवी सिंधु, साक्षी मलिक, दीपा कर्माकर और जीतू राय को यह पुरस्कार प्राप्त हुए थे। 

ऐसे में 17 सितंबर को होने वाली संभावित मिटिंग में कमेटी पुरस्कारों की संख्या बढ़ाने की सिफारिश करती है। तो फिर शायद पुरस्कारों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। अब देखना होगा कि यह संख्या पिछले रिकॉर्ड यानी चार पुरस्कारों के रिकॉर्ड को तोड़ पाती है या नहीं। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर