comScore
Dainik Bhaskar Hindi

100 फीट के टाॅवर से जंप, ये है दुनिया की सबसे खतरनाक परंपरा

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 25th, 2017 12:18 IST

654
0
0

डिजिटल डेस्क, वनातू। दुनिया की अनोखी परंपराओं में ये सबसे खतरनाक हो सकती है। देखने वालों को रोंगटे खड़े कर देने वाली परंपरा को निभाते हुए अरसा बीत चुका है, लेकिन ये लोग इनका पालन बदस्तूर करते हैं। यहां हम बात कर रहे है वनातू आइलैंड में रहने वाले उन आदिवासियों की जो सौ फीट ऊंचे लकड़ी के टॉवर से छलांग लगाते हैं और सुरक्षा इंतजाम के नाम पर इनके दोनों टखनों में पेड़ की कुछ लताएं बंधी होती हैं। नजारा इतना खतरनाक होता है कि जब ये लोग नीचे छलांग लगाते हैं तो इनके बचने की उम्मीद ना के बराबर ही दिखाई देती है। पेड़ की लताएं इस तरह से बांधी जाती हैं कि जंप करते वक्त सीना जमीन को छू जाए। यदि ये लताएं बीच से टूट जाएं या छोटी पड़ जाए तो इसके दुखद परिणाम सामने आ सकते हैं। 

प्रचलित है ये कहानी

ये परंपरा कब शुरू हुई इसकी कहानी भी बड़ी ही रोचक है। इसे लेकर कहा जाता है कि टमली नामक एक महिला अपने पति से नाराज होकर घर छोड़कर चली गई। वह अपने पति से काफी परेशान थी। पति ने उसका पीछा किया दोनों जंगल में जा पहुंचे। जब पति से बचने टमली पेड़ पर चढ़ गई। उसका पति भी पेड़ पर चढ़ गया। टमली ने पैरों में पेड़ की लताएं बांधी और नीचे कूद गई। उसका पति भी उसके पीछे कूद गया, लेकिन टमली बच गई और उसका पति मारा गया। कहा जाता है कि तभी से पत्नी के धोखे से बचने के लिए इसपरंपरा का निर्वाह यहां किया जाता है। 

नारियल के तेल से मालिश

एक मान्यता ये भी है कि यदि यह जंप सफल हो जाए तो रतालू की फसल अच्छी होती होती है। इस टाॅवर के पास जाने की महिलाओं को मनाही होती है। इस जंप को करने वाला कुछ दिन अपनी पत्नी से भी दूर रहता है। डाइविंग वाले दिन पहले नारियल के तेल से इन लोगों की मालिश की जाती है और बाद में उनके गले में जंगली सुअर के दांतों से बनी माला पहनायी जाती है। प्रतिवर्ष करीब 20 लोग इस परंपरा को पूरा करते हैं। इनकी इस अनोखी परंपरा ने पूरी दुनिया का ध्यान इनकी ओर खींचा है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर