comScore
Dainik Bhaskar Hindi

#Me Too: एमजे अकबर से कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा, अब तक छह महिलाओं ने लगाए यौन शोषण के आरोप

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 11th, 2018 01:14 IST

6.1k
3
0
#Me Too: एमजे अकबर से कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा, अब तक छह महिलाओं ने लगाए यौन शोषण के आरोप

News Highlights

  • केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर से विपक्ष ने इस्तीफे की मांग की है
  • कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एस जयपाल रेड्डी ने कहा कि एमजे अकबर को इन आरोपों पर सामने आना चाहिए।
  • एमजे अकबर पर छह पूर्व महिला जर्नलिस्टों ने सेक्शुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए हैं।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। #MeToo कैंपेन में घिरे केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर जहां एक तरफ बीजेपी चुप है, वहीं दूसरी ओर विपक्ष ने इस्तीफे की मांग की है। इस मामले पर कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एस जयपाल रेड्डी ने कहा कि एमजे अकबर इन आरोपों पर या तो संतोषजनक जवाब दें या फिर इस्तीफा दें। रेड्डी ने कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले की जांच करानी चाहिए। बता दें कि एमजे अकबर पर छह पूर्व महिला जर्नलिस्टों ने सेक्शुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए हैं।

जयपाल रेड्डी ने कहा, 'इस मामले की जांच होने पर ही सभी तथ्य सामने आएंगे, लेकिन जांच होने तो दीजिए।' वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की चुप्पी पर सवाल खड़ा करते हुए रेड्डी ने कहा, 'सुषमा अपनी जिम्मेदारी से बच रही हैं। ऐसे गंभीर आरोपों पर वह बोलने को भी तैयार नहीं हैं।' दरअसल मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एमजे अकबर पर लगे आरोपों पर कुछ भी कहने से मना कर दिया था। मीडिया ने जब उनसे इस बारे में सवाल पूछा तो वह बिना कुछ बोले वहां से चली गईं।

वहीं कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने सुषमा स्वराज पर चुटकी लेते हुए कहा कि जब महिलाओं के हक में खड़ा होने की बात आती है तो सुषमा स्वराज इसी तरह चुप्पी साध लेती हैं। उन्होंने कहा, 'यह बहुत ही दुख की बात है, क्योंकि देश की बहुत सारी बच्चियां सुषमा को प्रेरणास्त्रोत के तौर पर देखती हैं।' एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया (EGI) ने भी महिला जर्नलिस्टों का समर्थन किया है। EGI ने कहा है कि देश में प्रेस की आजादी के लिए निष्पक्ष और काम करने के लिए सुरक्षित माहौल का होना जरूरी है।

बता दें कि एमजे अकबर केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री के अलावा कई अखबारों में सीनियर जर्नलिस्ट के तौर पर भी काम कर चुके हैं। हाल ही में शुरू हुए #MeToo कैंपेन में उन पर प्रिया रमानी, शूमा राहा, प्रेरणा सिंह बिंद्रा, गजला वहाब और सुपर्णा शर्मा समेत छह पूर्व महिला पत्रकारों ने अश्लील व्यवहार करने का आरोप लगाया था।

प्रिया रमानी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर बताया था कि एमजे अकबर कभी भी कोई अश्लील हरकत करने से चूकते नहीं थे। वहीं एक और पत्रकार ने कहा था कि अकबर जब 'एशियन एज' अखबार के बॉस थे तब उन्होंने मुझे वहां रात में रुकने के लिए पूछा था। मेरे मना करने के बाद मैं कभी उनके पसंद के लोगों में नहीं रही।

प्रेरणा सिंह बिंद्रा ने अकबर पर आरोप लगाते हुए कहा था कि मेरे साथ हुई घटना को 17 साल बीत चुके हैं। जब मैं आधी रात को अपना काम पूरा कर घर जाने लगी तो उन्होंने मुझे काम की चर्चा करने के बहाने अपने होटल रूम में बुलाया था। जब मैंने मना कर दिया तो उन्होंने मेरे काम और मेरी जिंदगी को नरक बना दिया। कुछ प्रेशर के कारण मैं यह तब बोल नहीं सकी। अब भी बस बोल ही सकती हूं क्योंकि मेरे पास कोई ठोस सबूत नहीं हैं। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर