comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पाकिस्तान में नाबालिग हिंदू लड़की अगवा, बंदूक की नोंक पर धर्मांतरण

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 22nd, 2017 15:40 IST

1.1k
0
0

डिजिटल डेस्क, कराची। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक हिंदू नाबालिग लड़की को अगवा किए जाने का मामला सामने आया है। थार गांव में हुई वारदात को लेकर लड़की के पिता ने हर जगह दरवाजा खटखटाया, लेकिन किसी ने मदद नहीं की। घटना के संबंध में पुलिस में भी शिकायत दर्ज करा दी गई है। कुछ दिनों पहले बंदूकधारियों द्वारा अगवा की गई एक हिंदू किशोरी को इस्लाम कबूल करने के लिए मजबूर किया गया और उस पर शादी करने का दबाव बनाया गया। लड़की के परिवार के हवाले से डॉन अखबार ने कहा कि तीन हथियारबंद लोग थार गांव में घुसे और लड़की के परिवार के सभी लोगों को बंधक बना लिया। 


   

स्थानीय पुलिस ने नहीं की मदद

इसके बाद उन्होंने 14 वर्षीय लड़की को अगवा कर लिया और जबरन धर्म परिवर्तन कर शादी करा दी। लड़की के पिता हीरो मेघवार ने कहा कि "उन्होंने इस संबंध में इलाके के कुछ प्रभावशाली लोगों से भी संपर्क किया कि उनकी बेटी को छुडवा दें, लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की। उनकी बेटी का धर्मांतरण हो गया है और उसका निकाह नसीर लुन्जो नाम के व्यक्ति हो गया। पिता ने आरोप लगाया कि स्थानीय पुलिस ने भी लड़की का पता लगाने में कोई रुचि नहीं दिखाई। 


 

17 जनवरी को होगी सुनवाई

पीड़ित परिवार ने मांग की है कि उनकी बेटी का पता लगाया जाए और उसे अदालत के सामने पेश किया जाए। थार के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अमीर सौद मागसी ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और तीन संदिग्धों को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। मागसी ने बताया कि पुलिस को धर्म परिवर्तन किए जाने का सर्टिफिकेट मिला था। अब विवाहित जोड़े ने सिंध उच्च न्यायालय में एक अर्जी दायर कर सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है। अदालत ने अर्जी पर सुनवाई के लिए 17 जनवरी की तारीख तय की है। 

पिछले दिनों पाकिस्तान में और भी सिखों के धर्मांतरण के मामले सामने आए हैं। जहां खैबर पख्तूनवा प्रांत के हंगू जिले के सिख समुदाय के सदस्यों ने उपायुक्त शाहिद महमूद से कहा कि सहायक आयुक्त तहसील ताल याकूब खान कथित तौर पर सिखों को इस्लाम अपनाने को मजबूर कर रहे हैं। इस मामले को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा था, 'हम पाकिस्तान सरकार के साथ इस मुद्दे पर उच्चस्तरीय बात कर रहे हैं। पाकिस्तान ने हालांकि आरोपों को खारिज किया और विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा, 'हंगू की घटना के बारे में गलत सूचना फैलाई जा रही है।'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर