comScore

नाबालिग को 2 लाख रुपए में बेचा, राजस्थान से छुड़ाकर लाई पुलिस

नाबालिग को 2 लाख रुपए में बेचा, राजस्थान से छुड़ाकर लाई पुलिस

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर की किशोरी का भोपाल के एक दलाल ने साथियों के साथ भोपाल रेलवे स्टेशन से अपहरण कर उसे राजस्थान में ले जाकर 2 लाख रुपए में बेच दिया। गिट्टीखदान पुलिस को घटना के बारे में पता चलने पर किशोरी को राजस्थान की स्थानीय पुलिस की मदद से आरोपियों के चंगुल से छुड़ा कर लाया गया है। किशोरी को नागपुर लाने के बाद परिजनों के हवाले कर दिया  गया है। पता चला है कि किशोरी को खरीदकर उसकी जबरन शादी करा दी गई। वह गर्भवती हो गई। इस मामले में गिट्टीखदान पुलिस ने आरोपी शिखरचंद दुग्गल (33), कालूराम मनोहरलाल छिपा (40) जोरावरपुरा राजस्थान और दालाराम कोडाराम छिपा (32) बस्ती पडालबाय गांव जसरासर राजस्थान निवासी को गिरफ्तार किया है। 

भोपाल के गिरोह के चंगुल में फंसी

पुलिस के अनुसार गिट्टीखदान निवासी 17 वर्षीय किशोरी अपने बस्ती के एक युवक से प्रेम करती थी। किशोरी का प्रेमी से विवाद हो गया। वह गुस्से में घर से जाफर नगर में रूबी नामक महिला के घर पर 18 अगस्त 2018 को काम करने पहुंची और नौकरानी का काम करने लगी। किशोरी हर रोज रूबी के घर का  कामकाज निपटाकर अपने घर दोपहर करीब 3 बजे तक लौट जाती थी। उस दिन जब वह घर पर नहीं लौटी, तब परिजनों ने उसकी सहेलियों व दोस्तों, परिचितों के यहां खोजबीन की। इधर प्रेमी से विवाद होने पर गुस्से में किशोरी नागपुर रेलवे स्टेशन पर गई और वहां से भोपाल पहुंच गई। भोपाल रेलवे स्टेशन पर उसे अकेली देखकर कुछ लोग मिले। वे किशोरी से हमदर्दी जताते हुए उसे अपने घर ले गए। किशोरी 15-20 दिनों तक उनके कब्जे में रहने के बाद समझी कि वे लड़कियों को बेचने का धंधा करते हैं। गिरोह ने किशोरी को शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान करना शुरू किया। किशोरी को दलाल शिखरचंद दुग्गल ने आरोपी दालाराम छिपा को 2 लाख में बेच दिया। उसके बाद कालूराम छिपा ने  उसकी अपने साला दालाराम छिपा से जबरन शादी करा दी। 

गिट्टीखदान थाने में दर्ज था मामला 

रूबी के घर से नहीं लौटने पर परिजनों ने उसके अपहरण की शिकायत गिट्टीखदान थाने में दर्ज कराई। इधर किशोरी ने एक दिन मौका पाकर राजस्थान से परिजनों को फोन किया और उन्हें बताया कि उसकी जबरन शादी करा दी गई है, वह गर्भवती है। यह जानकारी पुलिस को दी गई। तब गिट्टीखदान पुलिस किशोरी को छुडाने राजस्थान पहुंची। वहां की स्थानीय पुलिस की मदद से पुलिस ने किशोरी को छुड़ाया। किशोरी ने पुलिस को बताया कि उसके प्रेमी से विवाद होने पर वह भोपाल रेलवे स्टेशन पहुंची और मानव तस्करी करने वाले गिरोह के चंगुल में फंस गई। गिरोह के साथ जुड़े दलाल शिखरचंद ने उसे आरोपी दालाराम छिपा को 2 लाख में बेच दिया। यह बात उसे तब पता चली, जब उसकी जबरन शादी कराई गई। 

सीडीआर निकालने पर पता चला 

पीड़िता के परिजनों ने गिट्टीखदान पुलिस को वह मोबाइल नंबर दिया, जिससे उसने अपने परिजनों को फोन किया था। पुलिस ने उसका सीडीआर निकाला, तब राजस्थान में होने की बात पता चली। आरोपी शिखरचंद ने उसे काम दिलाने का लालच देकर राजस्थान ले जाने की बात की। किशोरी के इनकार करने पर जान से मारने की धमकी देकर वह उसे राजस्थान में ले जाकर बेच दिया। किशोरी को नागपुर लाने के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया गया है। 

 
 

कमेंट करें
eXOco