comScore
Dainik Bhaskar Hindi

रुपए को थामने की कवायद, मोदी सरकार ने तैयार किया प्रवासी प्लान

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 11th, 2018 08:09 IST

7k
2
0
रुपए को थामने की कवायद, मोदी सरकार ने तैयार किया प्रवासी प्लान

News Highlights

  • डॉलर के मुकाबले कमजोर हो रहा रुपया मोदी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती बन चुका है।
  • मोदी सरकार ने गिरते रुपये को संभालने के लिए 'प्रवासी' प्लान तैयार किया है।
  • मोदी सरकार की नजरें प्रवासी भारतीयों पर टिकी है जो देश में डॉलर की आवक को बढ़ा सकते हैं।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। डॉलर के मुकाबले लगातार कमजोर हो रहा रुपया जहां भारतीय अर्थव्यवस्था को कमजोर कर रहा है, तो वहीं मोदी सरकार के लिए भी इसे संभालना अब एक बड़ी चुनोती बन चुका है। यही वजह है कि मोदी सरकार ने गिरते रुपये को संभालने के लिए 'प्रवासी' प्लान तैयार किया है। मोदी सरकार की नजरें प्रवासी भारतीयों पर टिकी है जो देश में डॉलर की आवक को बढ़ा सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सरकार इस योजना पर काम कर रही है और जल्द ही इस बारे में कोई बड़ी घोषणा कर सकती है।

रिपोर्ट बताती है कि वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) प्रवासी भारतीयों की इस योजना को तैयार कर रहे हैं। इसी महीने कभी भी मोदी सरकार इसका ऐलान कर सकती है। इससे पहले 2013 में जब देश में UPA की सरकार थी तब RBI ने फॉरेन नॉन-रेजिडेंट बैंक डिपॉजिट प्लान को लाकर गिरते रुपये को थामने की कोशिश की थी। सरकार ने बॉन्ड बिक्री और डॉलर डिपॉजिट के जरिए भी विदेशी फंड को आकर्षित किया था और रुपये की गिरावट को थामा था।

गौरतलब है कि, साल 2018 में डॉलर के मुकाबले सबसे ज्यादा कमजोर होने वाली एशियन करंसी में रुपया है। यह करीब 14% कमजोर हुआ है। साल की शुरुआत में डॉलर के मुकाबले रुपया 63.33 के स्तर पर था जो अभी 74 के करीब हो गया है। रुपए की गिरावट के लिए कच्चे तेल की कीमतों में उछाल और देश की वित्तीय कंपनियों की खराब सेहत को जिम्मेदार माना जा रहा है। इस गिरावट को थामने के लिए सरकार ने अबतक जो भी कोशिशें की है उसमें नाकाम ही साबित हुई हैं। ऐसे में अब ये देखना होगा कि मोदी सरकार के इस नए प्लान का कितना असर रुपए की गिरावट को रोकने में कामयाब हो पाता है।     

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें