comScore

नागपुर म्हाडा के सभापति कुरैशी को  मिला स्टेट मिनिस्टर का दर्जा

November 24th, 2018 09:17 IST
नागपुर म्हाडा के सभापति कुरैशी को  मिला स्टेट मिनिस्टर का दर्जा

डिजिटल डेस्क,मुंबई। नागपुर गृहनिर्माण व क्षेत्र विकास मंडल (म्हाडा) के सभापति मोहम्मद तारिक कुरैशी को राज्यमंत्री पद का दर्जा मिल गया है। मुंबई म्हाडा के सभापति मधु चव्हाण, मुंबई इमारत मरम्मत व पुनर्रचना मंडल के सभापति विनोद घोसालकर और मुंबई झोपड़पट्टी सुधार मंडल के सभापति विजय नाहटा को भी राज्य मंत्री पद का दर्जा मिला है। प्रदेश सरकार के गृह निर्माण विभाग की ओर से इस बारे में शासनादेश जारी किया है। शासनादेश के अनुसार सरकार के अगले आदेश तक चारों मंडलों के सभापति का राज्य मंत्री का दर्जा बरकरार रहेगा। राज्य मंत्री का दर्जा मिलने से चारों मंडलों के सभापति को हर महीने 7 हजार 500 रुपए का मानधन मिलेगा। इसके अलावा निर्देशक मंडल की बैठक के लिए भत्ता, आवास व टेलीफोन खर्च, कार्यालयीन काम के लिए वाहन सुविधा के खर्च, प्रवास और दैनिक भत्ते समेत अन्य सुविधाएं मिलेंगी। ये सभी सुविधाएं राज्य सरकार के वित्त विभाग के 13 मार्च 2012 के शासनादेश के मुताबिक मिलेंगी। सरकार की तरफ से चारों मंडलों के सभापति पद पर नियुक्ति के लिए 25 अक्टूबर को अधिसूचना जारी की गई थी। सभापति पद मिलने के लगभग दो महीने बाद अब सभी को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। 

 कर्मचारी यूनियन को विश्वास, बेस्ट को भ्रष्टाचार मुक्त कर सकते हैं मुंढे
घाटे में चल रही राजधानी मुंबई की बस परिवहन सेवा बेस्ट के कर्मचारी चाहते हैं कि नाशिक मनपा के आयुक्त पद से हटाए गए चर्चित आईएएस अधिकारी तुकाराम मुंडे को बेस्ट की कमान सौपी दी जाए। स्थानीय भाजपा नेताओं के आंखों की किरकिरी बने मुंडे को मंत्रालय में नियोजन विभाग के सहसचिव के पद पर भेजा गया है। बेस्ट यूनियन  ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर 26 नवंबर से अनिश्चितकालिन हड़ताल पर जाने की घोषणा की है। बेस्ट में रोजाना 38 से 40 लाख यात्री सफर करते थे। इसके बावजूद बेस्ट बस सेवा घाटे में चल रही है। बेस्ट की कर्मचारी यूनियन की माने तो भ्रष्टाचार के चलते अंग्रेजों के जमाने की यह परिवहन सेवा घाटे में चल रही है। इसलिए वे चाहते हैं कि मुंडे जैसा इमानदार अधिकारी ही इसे पटरी पर ला सकता है। तुकाराम मुंढे को एक ईमानदार आधिकारी माना जाता है। बेस्ट कर्मचारी यूनियन ने अनिश्चित कालिन हड़ताल के लिए जो कारण गिनाए हैं, उसमें कहा गया है कि बेस्ट को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लिए ईमानदार युवा आईएएस अधिकारी तुकाराम मुंढे की नियुक्ति की जाए। हाल ही में नाशिक के मनपा आयुक्त पद से मुंढे का तबादला मंत्रालय (मुंबई) के लिए किया गया है। 12 साल की सेवा में मुंढे का 11 वार तबादला हो चुका है।

Loading...
कमेंट करें
Ns2mA
Loading...
loading...