comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मानसून लौटने की राह पर, जलाशयों की स्थिति से सिंचाई व्यवस्था पर मंडरा रहा खतरा

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 14th, 2018 12:48 IST

2.9k
0
0
मानसून लौटने की राह पर, जलाशयों की स्थिति से सिंचाई व्यवस्था पर मंडरा रहा खतरा

डिजिटल डेस्क,नागपुर। मानसून के अब लौटने मानसून आधा से ज्यादा गुजर चुका है। अब वापसी की तैयारी में है, बावजूद नागपुर शहर और विभाग को जलापूर्ति करने वाले जलाशयों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। तोतलाडोह जलाशय की स्थिति तो और भी खराब है। इसका जल भंडारण 28 प्रतिशत से ऊपर  नहीं बढ़ पा रहा है। अगर किसानों के लिए सिंचाई का पानी इस जलाशय से छोड़ना है, तो कम से कम जलाशय में भी 33 प्रतिशत पानी होना आवश्यक है।

अब भी नहीं बरसे तो आ सकता है संकट
ऐसे में नागपुर शहर की जलापूर्ति सहित किसानों की सिंचाई व्यवस्था पर इस साल संकट मंडरा रहा है। अगर मानूसन के बादल जाते-जाते भी नहीं बरसे, तो अगला साल नागपुर शहर के साथ ग्रामीणों के लिए संकट भरा हो सकता है। इस स्थिति के लिए मध्यप्रदेश के चौरई बांध को बड़ा कारण माना जा रहा है। चौरई बांध के कारण नागपुर के तोतलाडोह में आने वाले पानी का प्रवाह रुक गया है, जिससे यह स्थिति पैदा हुई है।

हालांकि नागपुर के पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर रोजाना 5 टीएमसी पानी छोड़ने की मांग की है, लेकिन अब तक इस पर मध्यप्रदेश सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है। नागपुर विभाग में अन्य जलाशयों की स्थिति थोड़ी-बहुत संतोषजनक है। 18 बड़े जलाशयों में सिर्फ 46.38 प्रतिशत पानी शेष है। 

कहां कितना पानी
नागपुर शहर को जलापूर्ति करने में तोतलाडोह जलाशय की अहम भूमिका है। तोतलाडोह के जरिए शहर को पीने का पानी मिलता है, किन्तु तोतलाडोह में इस वक्त सिर्फ 28.26 प्रतिशत पानी शेष है। यह पानी अगले साल तक शहर की कितनी प्यास बुझाएगा, कहना मुश्किल है।

यही स्थिति कामठी खैरी, रामटेक खिंडसी, लोवर वेणा, वडगांव में है। कामठी खैरी में 41.01 प्रतिशत, रामटेक खिंडसी में 51.84, लोवर वेणा में 82.25 और वडगांव में 82.84 प्रतिशत पानी भंडारण है। गोंदिया के इटियाडोह में 66.04 प्रतिशत, सिरपुर में 64.14, पुजारी टोला में 95.59, कालीसरार में 95.84, चंद्रपुर के असोलामेंढा में 99.52, गड़चिरोली के दिना जलाशय में 100, वर्धा जिले के बोर में 31.61, धाम में 38.61, पोथरा में 100, लोअर वर्धा टप्पा-1 में 28.20, भंडारा के गोसीखुर्द में 40.38, बावनथड़ी में 59.15 और धापेवाड़ा बैराज में 21.38 प्र.श पानी है।  
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर