comScore

मानसून केरल में ही अटका, मामूली गति से बढ़ रहा आगे,लगेगा अभी और समय

मानसून केरल में ही अटका, मामूली गति से बढ़ रहा आगे,लगेगा अभी और समय

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मानसून केरल में ही अटक कर बैठा है, इसके मामूली गति से आगे बढ़ने से नागपुर आने में अभी और समय लग सकता है। 8 जून को केरल तट पर दस्तक देने के बाद गुरुवार तक इसमें मामूली प्रगति ही दिखाई दी है। इससे विदर्भ में  मानसून के जल्दी पहुंचने की आशा क्षीण हो गई है। ऊपर से ‘वायु’ चक्रवात भी बहुत कुछ मानसूनी नमी को अपने आगोश में भर कर निकल गया है। मौसम विभाग के अनुसार, एक चक्रवाती चक्र बंगाल की खड़ी में बन रहा है। इस पर ही विदर्भ में मानसून पहुंचाने का दारोमदार है। हालांकि मानसून ने अभी तक केरल की सीमा नहीं लांघी है, फिर भी बंगाल की खाड़ी में बन रहा चक्रवाती चक्र के पूर्ण विकसित होने पर विदर्भ में बौछारों की उम्मीद बनी हुई है। 

लू का असर बना रहेगा
सूरज का कोप सुबह के उजाले के साथ ही शुरू हो जाता है। गर्म हवाएं देर रात तक परेशान कर रही हैं। दिन का तापमान दीवारों व छत को इतना गर्म कर दे रहा है कि रात में घर भट्ठी की तरह धधक रहे हैं। पंखे-कूलर और एसी औपचारिक साबित हो रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार, विदर्भ में लू का असर फिलहाल जारी रहेगा। पारे के स्थिर बने रहने के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री ऊपर रहा। न्यूनतम तापमान भी सामान्य से 4 डिग्री ऊपर 30.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। आर्द्रता अधिकतम 51 व न्यूनतम 36 प्रतिशत रही। लू का असर बने रहने की उम्मीद है। मानसून पूर्व की हलचलें पिछले 3 दिनों से थमी हुईं हैं। शुक्रवार शाम कुछ देर धूल भरी आंधी चल सकती है। कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी की भी उम्मीद है। तापमान में गिरावट के बावजूद भारी उमस बनी हुई है। उमस के चलते चुभनभरी गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।
 

कमेंट करें
D9Jom