comScore

धोनी पर जुर्माना नहीं, 2-3 मैच का बैन लगाना चाहिए था: सहवाग

धोनी पर जुर्माना नहीं, 2-3 मैच का बैन लगाना चाहिए था: सहवाग

हाईलाइट

  • सहवाग ने कहा- धोनी पर दो से तीन मैचों का बैन लगाया जाना चाहिए था
  • नो बॉल न देने पर अंपायर से भिड़े थे धोनी
  • IPL के नियमों का उल्लंघन करने पर धोनी पर लगाया गया था मैच फीस का 50% जुर्माना

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले गए मैच में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अंपायर के फैसले के खिलाफ डगआउट से मैदान पर आ गए थे। इसी वजह से अब धोनी की काफी आलोचनाएं हो रहीं हैं। धोनी पर मैच फीस का 50% जुर्माना भी लगाया गया था। जिस धोनी से स्वीकार भी किया, लेकिन इस पर अब भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा धोनी पर IPL के नियमों का उल्लंघन करने के कारण 50% जुर्माना नहीं बल्कि दो से तीन मैचों का बैन लगाया जाना चाहिए था।

सहवाग ने इस मामले पर कहा, अगर उन्होंने यह भारतीय टीम के लिए किया होता तो मैं काफी खुश होता। मैंने उन्हें भारतीय टीम की कप्तानी के दिनों में इतने गुस्से में कभी नहीं देखा। मुझे लगता है कि वह चेन्नई को लेकर कुछ ज्यादा ही भावुक हो रहे हैं। उन्होंने कहा, जब चेन्नई के दो खिलाड़ी मैदान पर थे तब उन्हें मैदान पर नहीं आना चाहिए था। वह दो खिलाड़ी भी नो बॉल को लेकर उतने ही गुस्से में थे, जितने गुस्से में धोनी थे। इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें इसे जाने देना चाहिए था। उन्होंने कहा, इसके लिए धोनी पर IPL के नियमों के हिसाब से दो से तीन मैच का प्रतिबंध लगना चाहिए, ताकि आगे एक उदाहरण दिया जा सके। उन्हें मैदान से बाहर ही रहना चाहिए था।

राजस्थान के खिलाफ मैच के आखिरी ओवर में बेन स्टोक्स द्वारा फेंकी गई फुलटॉस को अंपायर ने पहले नो बॉल दिया था, लेकिन बाद में लेग अंपयार के कारण यह फैसला बदल दिया गया था। इस पर मैदान पर मौजूद चेन्नई के मिशेल सैंटनर और रवींद्र जडेजा अंपायर के फैसले से नाखुश दिखे थे और उन्होंने इसकी शिकायत भी की थी। इसी बीच धोनी डगआउट से मैदान पर आकर अंपायरों से बहस करने लगे थे। 

कमेंट करें
MV9H5