comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मायानगरी को भारी ट्रैफिक जाम से छुटकारा दिलाएगी ड्रोन टैक्सी

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 12th, 2018 14:10 IST

2.8k
1
0
मायानगरी को भारी ट्रैफिक जाम से छुटकारा दिलाएगी ड्रोन टैक्सी

News Highlights

  • मुंबई को जल्द ही भारी ट्रैफिक जाम से निजात मिल सकेगी
  • राज्य सरकार ने दी ड्रोन टैक्सी सेवा को हरी झंडी
  • ड्रोन टैक्सी में दो लोगों के बैठने की क्षमता होगी


डिजिटल डेस्क, मुंबई। मायानगरी को भारी ट्रैफिक जाम की समस्या से अब छुटकारा मिल सकेगा। राज्य सरकार ने मुंबई के लिए ड्रोन टैक्सी सेवा को हरी झंडी दे दी है। मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय द्वारा भेजे गए प्रस्ताव पर मंजूरी दे दी है। गौरतलब है  कि केन्द्र सरकार ने  उबर की मदद से एक ड्रोन टैक्सी नीति अमल में लाने की तैयारी की है, जिससे मुंबई, बेंगलुरू और दिल्ली जैसे शहरों में यातायात की समस्याओं को हल किया जा सकेगा।  राज्य सरकार के बैटरी युक्त ड्रोन की  ऊंचाई, चार्जिंग स्टेशन सहित सभी पहलुओं पर गौर करते हुए इसे उपयुक्त माना। सह्याद्री गेस्ट हाउस में डेमो में भाग लेने वाली टीम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने ड्रोन सेवा के यात्री, कार्गो, चिकित्सा सहित अन्य सभी पहलुओं पर गौर करते हुए ड्रोन टैक्सियों को लॉन्च करने की योजना की घोषणा की है। "मुंबई, दिल्ली और बेंगलुरू दुनिया के सबसे अधिक व्यस्त शहरों में  जहां कुछ किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए एक घंटे से अधिक समय लग जाता है। उबर एयर परिवहन का अच्छा विकल्प बन सकता है।

वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार  मुंबई की नई विकास योजना के तहत हेलीकॉप्टर लैंडिंग पैड की अनुमति देने का प्रस्ताव दिया गया है। इसमें दो व्यक्तियों को बैठने की क्षमता होगी यह किसी भी छत पर उतर सकता है। उबर का एलिवेट प्रोग्राम ग्राहकों को  एक बटन दबाए रखने और मांग पर उड़ान भरने की अनुमति देगा। कंपनी मुंबई में इस पर अध्ययन कर रही है।

मुंबई शहर उपयुक्त
दुनिया के सबसे व्यस्त और बड़े शहरों में शुमार मुंबई ड्रोन टैक्सी जैसी योजनाओं के लिए उपयुक्त है। मुंबई शहर की सड़कों पर ट्रैफिक जाम एक आम समस्या है, ड्रोन टैक्सी सर्विस से इस समस्या से मुंबई वासियों को काफी हद तक राहत मिल सकती है। गाइडलाइन्स के अनुसार ड्रोन टैक्सी 200 मीटर से अधिक ऊंचाई की किसी भी इमारत पर उतर सकती है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर