comScore

पाक के पूर्व राष्ट्रपति जरदारी गिरफ्तार, 35 अरब के लेनदेन का आरोप

पाक के पूर्व राष्ट्रपति जरदारी गिरफ्तार, 35 अरब के लेनदेन का आरोप

हाईलाइट

  • पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सह अध्यक्ष हैं जरदारी
  • कोर्ट ने जमानत देने से किया इनकार
  • कुछ दिनों पहले इमरान खान को हटाने की अपील की थी

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। फर्जी बैंक अकाउंट के मामले में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी गिरफ्तार कर लिया गया है। पाकिस्तानी जांच एजेंसी एनएबी (National Accountability Bureau) की एक टीम सोमवार को पीपीपी (पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी) के सह अध्यक्ष जरदारी के घर पहुंची और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने फर्जी बैंक अकाउंट मामले में जरदारी और उनकी बहन फरयाल तालपुर की अंतरिम जमानत बढ़ाने की अर्जी ठुकरा दी थी, जिसके बाद कोर्ट ने एनएबी को दोनों की गिरफ्तारी के आदेश दिए। फर्जी खाता मामले की सुनवाई न्यायाधीश अमीर फारुख और न्यायमूर्ति मोहसिन अख्तर कयानी की खंडपीठ कर रही है।

जरदारी और उनकी बहन पर कई मुख्यधारा के बैंकों और फर्जी खातों के जरिए अरबों के फर्जी लेनदेन की जांच का मामला चल रहा है। इन खातों का उपयोग रिश्वत में मिले पैसों को ट्रांसफर करने के लिए किया जाता था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जरदारी और उनकी बहन फरयाल सहित 7 लोगों ने इन खातों की मदद से 35 अरब रुपए का संदिग्ध लेनदेन किया है। 

बता दें कि कुछ दिनों पहले दिए गए जरदारी के एक बयान ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। उन्होंने पाकिस्तानी के लोगों से इमरान खान को हटाने और देश को बचाने की गुहार लगाई थी। उन्होंने कहा था कि इमरान खान को प्रधानमंत्री के पद से जल्द नहीं हटाया गया तो देश के हालात और खराब होंगे। पाकिस्तान की गिरती अर्थव्यवस्था पर चिंता जाहिर करते हुए जरदारी ने कहा था कि इसके लिए इमरान खान को पद से हटाना जरूरी है।

कमेंट करें
hXiCn