comScore

स्मार्ट सिटी रैंकिंग में अहमदाबाद को पछाड़कर नागपुर बना अव्वल

स्मार्ट सिटी रैंकिंग में अहमदाबाद को पछाड़कर नागपुर बना अव्वल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर ने स्मार्ट सिटी रैंकिंग में सबको पछाड़ते हुए प्रथम स्थान हासिल किया है। केंद्र सरकार के गृहनिर्माण व शहरी विकास मंत्रालय की साप्ताहिक रैंकिंग में नागपुर स्मार्ट एंड सस्टेनेबल सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड को साप्ताहिक रैंकिंग में पुन: प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। करीब 4 माह की कड़ी मेहनत व सतत् प्रयासों से नागपुर को यह गौरव प्राप्त हुआ है। इसके पूर्व अप्रैल में नागपुर ने अहमदाबाद को पीछे छोड़ दिया था। 

1045 किमी का ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क

योजना से शहर का चेहरा-मोहरा बदल रहा है। स्मार्ट सिटी प्रकल्प अंतर्गत शहर में 1045 कि.मी. क्षेत्र में ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क तैयार किया गया है। 700 जंक्शन्स पर 3600 सीसीटीवी सर्विलांस कैमरा लगाए गए हैं। इसके अलावा 136 जगह पर वाई-फाई शुरू किया गया है। 40 हजार लोग इसके जरिए इंटरनेट सेवा का लाभ ले सकते हैं। इसमें आधा घंटा फ्री इंटरनेट सुविधा मिलेगी। शासकीय कामकाज के लिए कभी भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। फिलहाल एक दिन में 38 हजार लोगों ने इसका उपयोग किया है। 

स्मार्ट सिटी मिशन में 21 प्रोजेक्ट पर कार्य 

नागपुर स्मार्ट एंड सस्टनेबल सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड की ओर से स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 21 प्रकल्पों पर कार्य जारी है। करीब 51 कि.मी. मार्गों का निर्माण किया जा रहा है। नागपुर सेफ स्मार्ट एंड सिटी के तहत शहर में 3600 सीसीटीवी विविध स्थानों पर लगाए गए हैं। सीसीटीवी के माध्यम से नागपुर पुलिस को अपराधियों पर नियंत्रण करने, सिग्नल तोड़ने वालों पर कार्रवाई करने में मदद मिल रही है। आपत्ति व्यवस्थापन में भी इनका सहयोग मिल रहा है। स्मार्ट सिटी के तहत पारडी, भरतवाड़ा, पुनापुर व भांडेवाड़ी क्षेत्र में 1730 एकड़ में विकास कार्य प्रस्तावित किए गए हैं। केंद्र व राज्य सरकारों के माध्यम से 3322 करोड़ रुपए के कार्य किए जाएंगे। 

अहमदाबाद से 2.13 अंक ज्यादा

शनिवार को  घोषित रैंकिंग में नागपुर 364.47  अंक हासिल करके प्रथम स्थान पर है, जबकि अहमदाबाद 362. 34 अंकों के साथ ‍द्वितीय स्थान पर है। नागपुर को उसके मुकाबले  2.13 अंक अधिक हासिल हुए हैं। केंद्र सरकार प्रति सप्ताह 100 स्मार्ट मिशन के शहरों की रैंकिंग घोषित करता है।  केंद्र गृहनिर्माण व शहरी विकास मंत्रालय द्वारा हर सप्ताह स्मार्ट सिटी की रैंकिंग जारी की जाती है। पिछले साल 2018  नागपुर स्मार्ट सिटी रैंकिंग में पहले स्थान पर आया था। इसके बाद नागपुर दूसरे स्थान पर बना था। हाल में अप्रैल महीने में नागपुर ने फिर बाजी मारकर पहला स्थान प्राप्त किया था। तत्पश्चात फिर अहमदाबाद शहर आगे निकल था। लगभग चार महीने बाद अब फिर नागपुर स्मार्ट सिटी का चेहरा बनकर सामने आया है।

2635 करोड़ के प्रकल्प प्रस्तावित

स्मार्ट सिटी योजना का उद्देश्य जीवन स्तर ऊंचा उठाने सहित तकनीक का बेहतरीन इस्तेमाल और नागरिकता के भाव में बढ़ोतरी करना है। मनपा निर्वाचित संस्था है। निर्णय प्रक्रिया में समय लगता है। इसलिए सरकार ने नागपुर स्मार्ट एंड सस्टेनेबल सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड अंतर्गत स्पेशल पर्पस व्हीकल (एसपीवी) कंपनी का गठन किया है। एसपीवी में 15 सदस्य हैं। योजना अंतर्गत 2635 करोड़ रुपए के प्रकल्प प्रस्तावित हैं। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व केंद्रीय परिवहन मंत्री नितीन गडकरी के विशेष योगदान के कारण तेजी से काम हो रहा है। फिलहाल नागपुर सेफ एंड स्मार्ट सिटी प्रकल्प क्रियान्वित किया जा रहा है। प्रकल्प के लिए 520 करोड़ खर्च अपेक्षित है। राज्य सरकार ने 394 करोड़ व नागपुर स्मार्ट एंड सस्टेनेबल सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन ने 126 करोड़ रुपए उपलब्ध कराए हैं। 

कमेंट करें
wtOPk