comScore

यादगार बन गई ट्रिप, टेंट में रहने का मजा ही कुछ अलग

यादगार बन गई ट्रिप, टेंट में रहने का मजा ही कुछ अलग

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अरे वाह तंबू को तो सिर्फ फिल्मों में देखा है मम्मी, हम इस तंबू में रहने वाले हैं। मैं तो सेल्फी लेकर सोशल मीडिया में अपलोड करने वाला हूं। हमेशा इसे टीवी में देखा है। पापा इस बार के हॉलिडे को आपने बहुत स्पेशल बना दिया है। टेंट में रह कर रात की चांदनी का नजारा और सुबह सनराइज देखने की बात ही अलग है। ऐसा मजा तो फाइव स्टार होटलों में नहीं आता है। कुछ इस तरह की प्रतिक्रिया नागपुरियंस की है, जो पर्यटन स्थलों पर छुट्टियां मनाने में मशगूल हैं। नागपुरियंस ने  इस बार की छुट्टियों की प्लानिंग कुछ अलग ही तरह से की है। अपने साथ टेंट भी ले कर जा रहे हैं, ताकि हॉलिडे को एडवेंचर्स बनाया जा सके। नागपुरियंस का कहना है कि, कई बार होटलों में कमरे उपलब्ध नहीं हो पाते हैं, इसलिए अपने साथ संसाधन होना जरूरी है। साथ ही बच्चों को भी इसका मजा आता है। वैसे भी लाइफ में जब तक कुछ नया नहीं हो, मजा नहीं आता है। दोस्तों और परिवार के साथ छोटे-छोटे टेंट में रहकर खाना बनाने का अलग ही मजा है।

यादगार बनी ट्रिप
कुंभ में देखा कि, टेंट में लोग किस तरह से रहते हैं, तो हमने सोचा कि, क्यों न ऐसा कुछ किया जाए। मेरे हसबैंड ने प्लान किया कि, इस बार हॉलीडे में जाएंगे तो इसे यादगार बनाएंगे। हम महाबलेश्वर घूमने गए, वहां पर टेंट और बाकी व्यवस्था करके ले गए, ताकि टेंट में रहने का मजा लिया जा सकें। पूरी फैमिली साथ होने से हमने इस ट्रिप को बहुत बेहतरीन बनाया। अपने साथ होलडॉल भी कैरी करके ले गए थे। होलडॉल में बिस्तर वगैरह थे। सभी की पीठ पर अपने अपने बैग थे, जिसमें सारा जरूरत का सामान था। टेंट में रुकने का अनुभव बहुत ही शानदार रहा। वैसे तो हमेशा ही होटल में रुकते हैं, लेकिन टेंट में रुकने का अनुभव किसी फाइव स्टार होटल से कम नहीं था। 
-दीपा शर्मा, सदर

हरियाली के बीच टेंट का अपना अलग मजा
इस बार हम वेकेशन में कश्मीर गए थे। अपने साथ टेंट कैरी करके ले गए थे। पहाड़ की हरियाली  वादियों के बीच टेंट लगाकर बहुत मजा आया। रात में इतनी ठंड रही थी, लेकिन जब चांदनी रात में चंद्रमा को देखा तो देखते ही रहे। बच्चे तो सेल्फी लेने में बिजी थे। लेडीज ने लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाया। इतना टेस्टी खाना तो पहले जैसे खाया ही नहीं था। सुबह के सनराइज के साथ बच्चों ने सेल्फी ली। इस अद्भुत ट्रिप ने हॉलिडे का मजा और भी बढ़ाया। हमारे साथ दो फैमिली और भी थीं। हमेशा हम देखा करते थे कि, पर्यटक टेंट ले जाया करते थे। हमारा अचानक से हॉलीडे पर जाने का प्लान बना ऐसे में होटल्स और रेलवे का टिकट मिलना पॉसिबल नहीं था। सभी दोस्तों ने कार से जाने का प्लान बनाया और अपने साथ टेंट और जरूरत का सामान कैरी करके ले गए। इतने वर्षों में हमारी यह ट्रिप बहुत ही यादगार रही। लाइफ में कुछ हटकर करना चाहिए, तभी तो मजा आता है।
-शैलेश व्यास, स्नेह नगर

कमेंट करें
PVZGw