comScore

राहुल गांधी ने कहा, "मोदी" नाम बना करप्शन का प्रतीक

March 19th, 2018 19:29 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के 84वें अधिवेशन में बोलते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी और आरएसएस की तुलना महाभारत के कौरवों से की है। वहीं कांग्रेस को उन्होंने पांडव बताया है, जो सत्ता के लिए नहीं बल्कि सच के लिए लड़ती है। इतना ही नहीं उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने हत्या के आरोपी को अपनी पार्टी का अध्यक्ष बना दिया। इसके अलवा उन्होंने बैंकिंग घोटाले, एग्जाम घोटाले, किसानों की आत्महत्या पर पीएम मोदी को घेरा।

बीजेपी कौरव, हम पांडव
राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत महाभारत के एक उदाहण के साथ कि। “सदियों पहले कुरुक्षेत्र के मैदान में एक बड़ी लड़ाई हुई थी, कौरव शक्तिशाली और घमंडी थे, उन्हें लगता था कि वह महान हैं। पांडव विनम्र थे, ज्यादा नहीं बोलते थे। उन्होंने सत्य के लिए युद्ध किया, कौरवों के जैसे ही बीजेपी और आरएसएस सत्ता के लिए लड़ते हैं, जबकि कांग्रेस पांडवों की तरह सच्चाई के लिए लड़ने को कटिबद्ध है।” राहुल ने कहा, “आज भ्रष्ट और ताकतवर लोग हमारे देश में कम्यूनिकेशन को कंट्रोल करते हैं, क्या भारत सत्य का सामना करेगा या फिर झूठ की आवाज सुनेगा।”

हत्यारे को बना दिया पार्टी अध्यक्ष
राहुल गांधी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, बीजेपी ने हत्या के आरोपी को पार्टी का अध्यक्ष बना दिया। कांग्रेस पार्टी ऐसा कभी स्वीकार नहीं कर सकती। कांग्रेस को उन्होंने सच्चाई का संगठन बताया। उनहोंने कहा, भारत को कांग्रेस पार्टी से काफी उम्मीदें हैं। बीजेपी एक संगठन की आवाज है जबकि कांग्रेस देश की आवाज है। राहुल ने कहा, भारत कभी नहीं भूल सकता कि जब हमारे नेता ब्रिटिश जेलों की जमीन पर सो रहे थे तो उनके नेता सावरकर ब्रिटिशों को खत लिखकर माफी मांग रहे थे।'

"मोदी" नाम बना करप्शन का प्रतीक
राहुल गांधी ने मोदी के सरनेम को लेकर भी तंज कसा। राहुल ने कहा कि मोदी नाम करप्शन का प्रतीक बन गया है। उन्होंने कहा, एक नीरव मोदी है, जिसने सबसे बड़ी चोरी की। ललित मोदी जिसने फिक्सिंग की।  कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'मोदी ने मोदी को 33000 करोड़ रुपये दिए, रिटर्न में मोदी ने मोदी को पैसे दिए और मोदी ने चुनाव जीत लिया।' बता दें कि नीरव मोदी वो शख्स है जिस पर 12600 करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक में घोटाले को अंजाम देने का आरोप है। जबकि ललित मोदी पर मैच फिक्सिंग के आरोप है। दोनों से फिलहाल देश छोड़कर जा चुके है। 

देश की जनता की भावनाओं का नहीं किया सम्मान
राहुल गांधी ने इस दौरान अपनी पार्टी की गलतियों को भी स्वीकार किया। उन्होंने कहा, 'पिछली सरकार के कुछ साल में हमने देश के लोगों की भावना का सम्मान नहीं किया। इसकी सजा लोगों ने हमें दी। कुरुक्षेत्र की लड़ाई सच्चाई के लिए हुई थी। आज हजारों साल बाद भी यही सवाल है कि क्या भारत झूठ का साथ देगा या सच का।' इस दौरान उन्होंने संगठन में बदलाव के भी संकेत दिए। राहुल ने कहा, इस बार चुनाव में पेराशूट नेताओं को नहीं बल्कि कार्यकर्ताओं को टिकट मिलेगा। उन्होंने कहा, हमारे देश में पॉलीटिकल सिस्टम और युवाओं के बीच एक दीवार है जिसे गिराना होगा। 

राहुल गांधी के भाषण की मुख्य बातें:

  • भाजपा और आरएसएस कौरवों के समान सत्ता के लिए लड़ रही है जबकि कांग्रेस पांडवों के समान सत्य के लिए लड़ रही है।
  • भाजपा एक संगठन की आवाज है जबकि, कांग्रेस एक देश की आवाज है।
  • वर्तमान में भ्रष्टाचार और ताकत से देश को नियंत्रित किया जा रहा है।
  • बीजेपी ने हत्या के आरोपी को पार्टी का अध्यक्ष बना दिया।
  • "मोदी" नाम बना करप्शन का प्रतीक बन गया है।
  • देश की जनता की भावनाओं का सम्मान नहीं किया इसीलिए देश की जनता ने हमे सजा दी।
  • एक तरफ तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्था थी, वहीं, अब करोड़ों युवाओं के पास रोजगार नहीं है| आज चीन हर जगह है, हर जगह मेड इन चाइना का बोलबाला है। 
  • राष्ट्र की चुनौतियों को स्वीकार करने के बजाय प्रधानमंत्री मोदी जी ने हमारी समस्याओं को ही भटका दिया। हमें बताया जा रहा है कि हमारी समस्याएं हमारी कल्पनाओं में ही विद्यमान है।
  • आज दुनिया के सामने अमेरिका और चाइना के दो विज़न हैं| लेकिन मैं चाहता हूँ कि 10 साल बाद अमेरिका और चाइना के विज़न के बीच भारत का भी विज़न दिखे और वो सबसे बेहतर हो।
  • हमें अपने सभी मतभेदों को अलग रख कर पार्टी के लिए जीत सुनिश्चित करने के लिए एक साथ मिलकर काम करना चाहिए।
कमेंट करें
MD1tj