comScore
Dainik Bhaskar Hindi

गोपाल नंदी के विवादित बोल- मुलायम सिंह 'रावण' तो मायावती 'शूर्पणखा'

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 06th, 2018 17:34 IST

10.8k
0
0

डिजिटल डेस्क, इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के स्टाम्प और नागरिक उड्डयन मंत्री नंद कुमार नंदी का विवादित बयान सामने आया है। नंदी के खिलाफ इलाहाबाद के धूमनगंज थाने में एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है। दरअसल नंदी ने फूलपुर की चुनावी रैली में सीएम योगी की मौजूदगी में मायावती को शूर्पणखा और मुलायम सिंह यादव की तुलना रावण से कर दी है। 


 

रामायण के किरदारों से की नेताओं की तुलना

बता दें कि बसपा के जोनल कोऑर्डिनेटर अशोक गौतम ने नंदी के खिलाफ तहरीर दी है। गौतम की मांग है कि उन्होंने फूलपुर की एक चुनावी सभा में बसपा सुप्रीमो मायावती के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग किया। मंत्री द्वारा की गई अभद्र टिप्पणी से मायावती का सरेआम अपमान किया गया है और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है। इस तहरीर में गौतम ने नंदी को गिरफ्तार गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग की गई है। रविवार को एक चुनावी जनसभा के दौरान नंदी ने सपा और बसपा नेताओं की तुलना रामायण के किरदारों से की थी।

सीएम केजरीवाल को भी नहीं बख्शा

दरअसल इस चुनावी जनसभा में मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। गोपाल नंदी ने सिर्फ मुलायम और मायवती पर ही निशाना नहीं साधा बल्कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को भी मामा मारीच बता डाला और शिवपाल यादव की भी जमकर खिंचाई की। मामला सामने आने के बाद विपक्ष मंत्री के इस विवादित बयान पर घमासान मच गया है। बीएसपी के प्रवक्ता उमेद सिंह ने तो साफ कह दिया कि मंत्री को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।

गोपाल नंदी ने मंच से अपने भाषण में कहा, “जब श्रीराम लंका पर विजय कर जाने लगे तो रावण ने पूछा कलियुग में मेरा क्या होगा? तो प्रभु ने बोला, आपका नाम मुलायम होगा और आप राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। तभी कुंभकरण बोले ...हे प्रभु! मेरा क्या नाम होगा? तब प्रभु राम ने कहा, आपको लोग शिवपाल के नाम से जानेंगे और आप हमेशा राज्यमंत्री ही रह जाएंगे।”

मायावती को बताया शूर्पणखा

इसके बाद उन्होंने बसपा प्रमुख मायावती पर निशाना साधा और बोले, “ये सब सुनकर जब राम वापस जाने लगे तो शूर्पणखा उनके पास आई और बोली, प्रभु मेरा क्या होगा? आपने मेरे संपूर्ण परिवार का नाश कर दिया। भगवान राम बोले तुम कलियुग में मेरी अयोध्या पर राज करोगी। उस समय तुम्हारा नाम मायावती होगा, लेकिन विवाह तुम्हारा उस समय भी नहीं होगा।”

सीएम योगी भी मंच पर थे मौजूद


हालांकि अपने इस बयान की सफाई देते हुए नंदी ने कहा कि वे संसदीय मर्यादा में रहते हुए बस मुहावरों का प्रयोग कर रहे थे। विपक्ष इसे बेवजह तूल दे रहा है। गोपाल नंदी के खिलाफ शिकायत के बाद पुलिस ने का कहना है कि वह जांच के बाद ही कुछ करेगी। बता दें कि इससे पहले सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने उनकी तुलना सांप और छुछुंदर से कर दी थी। यूपी में हो रहे गोरखपुर ओर फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में अध्‍यक्ष अखलेश यादव और मायावती के साथ आते ही उसका असर बीजेपी नेताओं की प्रतिक्रियाओं में दिखने लगा है। जिस मंच से मंत्री नंदगोपाल नंदी मुलायम को रावण, अखिलेश को मेघनाथ और मायावती को शूर्पणखा कह रहे थे, उस मंच पर योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद थे।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download