comScore

प्राकृतिक लाइट से जगमगाएगा नागपुर रेलवे स्टेशन, नवंबर के आखिरी तक लगाने की तैयारी

November 18th, 2018 00:57 IST
प्राकृतिक लाइट से जगमगाएगा नागपुर रेलवे स्टेशन, नवंबर के आखिरी तक लगाने की तैयारी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जल्दी ही यात्रियों पर कुदरती लाइट का प्रकाश पड़नेवाला है। रेलवे ने कवायदें शुरू भी कर दी है। बात हो रही है सोलर लाइट पाइप की। जो इसी महीने नागपुर रेलवे स्टेशन के पैसेंजर रिजर्वेशन सेंटर में लगने जा रहे हैं। यह लाइट पूरी तरह कुदरती रहेंगे। न तो इसमें बल्ब होगा और न ही कोई वायर रहेगा। केवल सूरज की किरणों को एक सही तरह से हॉल में पाइप के द्वारा लाया जाएगा। जिससे दिन में तो बिजली पर चलनेवाली लाइटों को जरूरत नहीं रहेगी। इससे एक ओर यात्रियों का आकर्षण बढ़ेगा वहीं दूसरी ओर बिजली का खर्च भी कम होगा। धीरे-धीरे इस व्यवस्था को वेटिंग रूम, बेस किचन व रेस्त्रां में उपयोग में लाया जाएगा।

मध्य रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत नागपुर रेलवे स्टेशन पर बने पैसेंजर रिजर्वेशन सेंटर ( पीआरएस) में कुल 8 टिकट काउंटर है। जहां रोजाना बड़ी संख्या में यात्री आकर टिकटें बनाते हैं। यह हॉल काफी बढ़ा होने से दिन में भी यहां दर्जनों लाइटें लगानी पड़ती है। जो बिजली खर्च का मुख्य कारण बनता है। लेकिन रेलवे के विद्युत विभाग ने नई तकनीक का सहारा लिया है। यहां सोलर लाइट पाइप लगाने का निर्णय लिया गया है। चार कोनों में चार लाइटें लगाने से बिजली पर चलनेवाली लाइट की शाम होने तक जरूरत नहीं लगेगी। इसमें सफल होने के बाद तेजी से रेलवे के डीआरएम कार्यालय के अधिकारियों के कैबिन में व रेलवे के अन्य कार्यालय में भी इसे लगाया जाएगा। अधिकृत सूत्रों के अनुसार इसी माह के आखिर तक इसे लगाने का काम पूरा हो सकता है। हालांकि किसी कारणवश फिलहाल काम रूका है। लेकिन जल्दी इसे शुरू कर कम्पलिट किया जाएगा।

डीआरएम के मार्गदर्शन में रेलवे का बिजली विभाग की ओर से कई तरह की नई-नई तरकीब के माध्यम से बिजली बचाई जा रही है। जिसमें इमोशनल मैसेज का भी सामावेश हैं। संदेश में मंडल की ओर से कई ऐसे पोस्टर बनाये है, जिसमें 17 हजार गांव का जिक्र करते हुए लाइटेन में बच्चे पढ़ते दिखाये हैं। इसके अलावा मुख्य अधिकारी द्वारा मंडल में विभिन्न जगह पर जाने पर जहां ज्यादा बिजली का खर्च किया जा रहा उन्हें बिजली का महत्व समझाया जा रहा है। यही नहीं स्टेशन से लेकर अन्य सभी कार्यालय, शेड आदि में बिजली बचानेवाले मॉनिटर रखे हैं। जो बिजली बचा रहे हैं।

कमेंट करें
Gonia