comScore
Dainik Bhaskar Hindi

नीरव मोदी ही नहीं इन 4 ने भी देश को लगाया चूना

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 06th, 2018 15:26 IST

6.5k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक में 11 हजार 400 करोड़ रुपए का घोटाला उजागर हुआ है। घोटाले का आरोप हीरा कारोबारी नीरव मोदी, उनके भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी पर है। सीबीआई ने घोटालेबाज नीरव मोदी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। हालांकि सूत्र बताते है कि नीरव देश छोड़कर भाग चुका है। पैसों का गबन कर देश छोड़कर भागने वाले नीरव मोदी पहले उद्योगपति नहीं हैं। इससे पहले कई बिजनेसमैन देश छोड़कर जा चुके हैं। हमारी इस रिपोर्ट में पढ़िए ऐसे कौन-कौन से उद्योगपति है जो इससे पहले अरबों रुपए का चूना लगाकर देश छोड़कर फरार हो गए।

Vijay Mallya
इस लिस्ट में सबसे पहला नाम आता है शराब कारोबारी विजय माल्या का। विजय माल्या पर भारतीय बैंकों की 9 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की देनदारी है। मार्च 2016 में माल्या को देश छोड़ने से रोकने के लिए कई बैंक सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे। लेकिन, कोर्ट जब तक कोई आदेश देता, माल्या देश छोड़ चुके थे। माल्या तब से लंदन में रह रहा है। माल्या पर कई दूसरे गंभीर वित्तीय आरोप भी लगे हुए हैं। माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर 9000 करोड़ रुपये का जो कर्ज बकाया है, वह कर्ज एसबीआई की अगुवाई वाले 17 बैंकों के समूह ने दिया था।

Lalit Modi

साल 2010 में ललित मोदी पर आईपीएल संचालन में पैसों की गड़बड़ी का आरोप लगा। ललित मोदी पर आरोप लगा कि उन्होंने दो नई टीमों की नीलामी के दौरान ग़लत तरीक़े अपनाए। ललित मोदी ने मॉरीशस की कंपनी वर्ल्ड स्पोर्ट्स को आईपीएल का 425 करोड़ का ठेका दिया था, जिसमें उनपर 125 करोड़ कमीशन लेने का आरोप लगा। साल 2010 में ही आईपीएल के बाद ललित मोदी को आईपीएल कमिश्नर के पद से निलंबित कर दिया गया। गड़बड़ी के आरोपों के बाद ललित मोदी ब्रिटेन चले गए थे तब से वो वहीं रह रहे हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने मोदी के खिलाफ नोटिस जारी किया हुआ है और इस मामले में ललित मोदी की तलाश कर रहा है। ललित मोदी के खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस भी जारी हआ था।

Deepak Talvar
कॉर्पोरेट सलाहकार दीपक तलवार पर आयकर विभाग ने पांच शिकायतें दर्ज कराई हैं। तलवार पर दुनिया भर के टैक्स हैवेन देशों में व्यक्तिगत और कॉर्पोरेट बैंकों के खातों को नियंत्रित करने के लिए सैकड़ो करोड़ रुपए तक के रिश्वत लेने का आरोप है। कथित तौर पर तकरीबन 1000 करोड़ रुपये रिश्वत लेने के मामले में कॉरपोरेट लॉबीस्ट दीपक तलवार आयकर विभाग के रडार पर आ गए थे। दीपक तलवार पर आरोप है कि उन्होंने विमानन क्षेत्र में सक्रिय दूरसंचार और विमानन सौदों की दलाली कर अपने ग्राहकों के फायदे के लिए अधिकारियों को रिश्वत दी थी। फिलहाल दीपक यूएई में हैं। वहां उनके देश छोड़ के जाने पर रोक लगाई गई है।

SANJAY BHANDARI
आर्म्स डीलर संजय भंडारी और उसके सहयोगी अशोक शंकर के खिलाफ दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 2016 में ऑफिसियल सिक्रेट एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की थी। संजय भंडारी के डिफेंस कॉलोनी इलाके में रेड कर डीफेंस डील से संबंधित कई अहम दस्तावेज बरामद किए थे। इसके बाद भंडारी भारत से लापता हो गया। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हथियार डीलर संजय भंडारी की 26 करोड रुपये से ज्यादा की संपत्ति को अटैच कर चुका है। यहीं नहीं ईडी ने भंडारी की दस कंपनियों समेत अनेक बैंक खातों में मौजूद चल अचल संपत्ति को भी जब्त किया है। भंडारी फिलहाल परिवार समेत देश से भागकर लंदन में रह रहा है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download