comScore

'नौसेना अधिकारियों को दक्षिणी मुंबई में एक इंच भी जमीन नहीं दूंगा'

January 12th, 2018 09:03 IST
'नौसेना अधिकारियों को दक्षिणी मुंबई में एक इंच भी जमीन नहीं दूंगा'

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नौसेना अधिकारियों के पॉश दक्षिण मुंबई में रहने की इच्छा पर आश्चर्य जताया है। उन्होंने कहा है कि समझ नहीं आता कि नौसेना के सभी अधिकारी दक्षिणी मुंबई के प्राइम लैंड पर क्वार्टर और फ्लैट क्यों बनाना चाहते हैं, उनकी जरूरत सीमा पर है यहां नहीं। उन्होंने कहा कि इस इलाके में नौसेना को फ्लैट या क्वार्टर के निर्माण के लिए एक इंच भी जमीन नहीं दी जाएगी।

मुंबई में एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान गडकरी ने कहा, 'नौसेना के कुछ अधिकारी मेरे पास आए और भूखंड मांगें। मैं साफ कर दूं कि मैं इस इलाके में एक इंच भी जमीन नहीं दूंगा। कृपया दोबारा मेरे पास न आएं।' उन्होंने कहा, 'हर कोई दक्षिण मुंबई में क्यों रहना चाहता है?  हम आपका (नौसेना का) सम्मान करते हैं, लेकिन आपको पाकिस्तान सीमा पर जाना चाहिए और गश्त करनी चाहिए। नौसेना की जरूरत सीमाओं पर है, जहां से आतंकवादी घुसपैठ करते हैं।' हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कुछ महत्वपूर्ण वरिष्ठ अधिकारी मुंबई में रह सकते हैं।  इस कार्यक्रम में नौसेना के पश्चिमी कमान के प्रमुख वाइस एडमिरल गिरिश लूथरा भी मौजूद थे।

गडकरी ने इस दौरान कहा, 'मुंबई पोर्ट ट्रस्ट और महाराष्ट्र सरकार द्वारा संयुक्त रूप से पूर्वी समुद्री किनारे का विकास किया जा रहा है। यहां केवल स्थानीय नागरिकों को लाभ मिलना चाहिए।' उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह विकास कार्यो में अड़ंगा लगाना आदत बन चुकी है। आखिर मालाबार हिल्स इलाके में नौसेना का क्या काम है? मुख्य रूप से यह क्षेत्र निजी आवासीय जोन में आता है।

माना जा रहा है कि नीतिन गडकरी ने यह बयान नौसेना के उस कदम से नाराज होकर दिया है जिसमें नेवी ने दक्षिण मुंबई के मालाबार हिल में एक तैरते पुल के निर्माण के लिए अनुमति देने से मना कर दिया था। यहां पर एक तैरता होटल और सीप्लेन सेवा शुरू करने की योजना थी, जिसे नेवी ने नकार दिया था।

कमेंट करें
AjkXu