comScore

मथुरा में पकड़ाए संदिग्ध आतंकी का जानिए भोपाल कनेक्शन

January 08th, 2018 16:34 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली को दहलाने की साजिश रच रहे एक संदिग्ध को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस संदिग्ध को भोपाल-निजामुद्दीन शताब्दी एक्सप्रेस से मथुरा के पास से पकड़ा गया है। पूछताछ में उसने खुलासा किया कि 26 जनवरी पर वह उसके साथियों के साथ मिलकर अक्षरधाम मंदिर में  बड़े आतंकी हमला करना चाहता था। फिलहाल इसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। संदिग्धों की गिरफ्तारियों के लिए पुलिस ने दिल्ली में छापामारी की, लेकिन पुलिस के वहां पहुंचने से पहले ही वह फरार हो गए। यूपी एटीएस, स्पेशल सेल और आईबी उनकी तलाश में जुटी हुई है। हालांकि एजेंसियों को अबतक संदिग्ध का कोई आतंकी कनेक्शन नहीं मिला है।




भोपाल में रची गई हमले की साजिश ?

भोपाल से निकली शताब्दी एक्सप्रेस में एक संदिग्ध आंतकी के पकड़े जाने से देशभर में अलर्ट है वहीं भोपाल में भी पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया है। सूत्रों के मुताबिक ये भी तथ्य सामने आ रहा है कि संदिग्ध आतंकी ने भोपाल में कई कश्मीरियों के साथ एक बैठक भी की थी। मध्यप्रदेश के आईजी इंटेलीजेंस मकरंद देउस्कर ने बताया कि पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है। पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि कहीं गणतंत्र दिवस पर हमला करने की पूरी कार्ययोजना भोपाल में तो नहीं बनाई गई थी।

छापेमारी से पहले निकले संदिग्ध

गणतंत्र दिवस को देखते हुए खुफिया विभाग ने पहले से ही अलर्ट जारी किया है। ऐसे में अक्षरधाम मंदिर पर हमले की साजिश रच रहे एक संदिग्ध बिलाल अहमद वानी को गिरफ्तार किया गया है। बिलाल साउथ कश्मीर के अनंतनाग तहसील का रहने वाला है।  दरअसल भोपाल-निजामुद्दीन शताब्दी एक्सप्रेस में टीटी को एक युवक की हरकते संदिग्ध लगी, इसके बाद टीटी ने इसकी जानकारी GRP को दी। GRP ने जब उस संदिग्ध से पूछताछ  की तो उसने बताया कि उसके दोस्त दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर पर हमला करने की तैयारी कर रहे हैं।  GRP ने बिना देर किए इसकी जानकारी यूपी ATS को दी। इसके बाद जब यूपी एटीएस उससे पूछताछ करने पहुंची तो वो पागलों जैसी हरकत करने लगा। ये भी कहा जा रहा है कि संदिग्ध आतंकी ने ड्रग्स ले रखे थे। तमाम कोशिशों के बाद उसने बताया की उसके दोस्त दिल्ली के जामा मस्जिद के पास होटल अल रशिद में ठहरे हुए हैं। यूपी पुलिस ने यह जानकारी दिल्ली की स्पेशल सेल और IB को दी। इसके बाद स्पेशल सेल और आईबी ने जामा मस्जिद के जम जम गेस्ट हाउस और अल रशिद होटल में रेड मारी तो पता चला कि 3 जनवरी को ये लोग आए और 6 जनवरी को शाम 8.30 होटल से निकल गए। 

अहमद वानी ने जीन दो दोस्ते के बारे में बताया है उसमें एक का नाम मुदासिर अहमद वागय और दूसरे का नाम मोहम्मद अशरफ है। बहरहाल, दोनों संदिग्धों की दिल्ली में मौजूदगी से सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ गए हैं। यूपी एटीएस, दिल्ली पुलिस की स्पेशल पुलिस और आईबी ने संदिग्धों की तलाश तेज कर दी है। पकड़ा गया संदिग्ध पूछताछ में बार-बार अपने बयान बदल रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि ड्र


 

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 42 | 24 April 2019 | 08:00 PM
RCB
v
KXIP
M. Chinnaswamy Stadium, Bengaluru