comScore

MNS को रास नहीं आया उत्तर भारतीयों की तारीफ वाला CM का बयान

November 30th, 2017 20:00 IST
MNS को रास नहीं आया उत्तर भारतीयों की तारीफ वाला CM का बयान

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने उत्तर भारतीयों की तारीफ कर उन्हें महाराष्ट्र का गौरव बताया,लेकिन सीएम का ये बयान नवनिर्माण सेना (MNS) को रास नहीं आया। मुख्यमंत्री ने कहा कि परप्रांतियों के कारण ही मुंबई महान बनी है। उनके इस बयान पर मनसे नेता संदीप देशपांडे ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

ये भी पढे़ं- गुजरात विधानसभा चुनाव : हिंदी भाषीय इलाकों में वोट मांग रहे मुंबई के उत्तरभारतीय नेता

गुरुवार को देशपांडे ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री को महाराष्ट्र भूषण नहीं बल्कि ‘भइया भूषण’ पुरस्कार दिया जाना चाहिए। देशपांडे ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ने गुजरात चुनाव के मद्देनजर वोटों की राजनीति के लिए यह बयान दिया है। उन्होंने कहा कि फडनवीस को कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से सीख लेनी चाहिए। वहीं मनसे नेता व पूर्व विधायक नितिन सरदेसाई ने कहा कि मुख्यमंत्री के लिए उत्तर भारतीयों वोटों की ज्यादा जरूरत है। उन्हें मूल मुंबईकर, किसानों और प्रदेश की जनता की चिंता नहीं है। सरदेसाई ने कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र हमेशा से ही महान हैं। मुंबई को दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को यहां आकर महान बनाने की जरूरत नहीं है। 

दूसरे राज्यों से आने वाले मुंबई को महान बनाते हैं: मुख्यमंत्री 

इससे पहले मुख्यमंत्री ने बुधवार को घाटकोपर में इंद्रदेव सिंह के नाम पर चौक के उद्धाटन कार्यक्रम में उत्तर भारतीयों की सराहना की थी। मुख्यमंत्री ने कहा था कि मुझे लगता है कि मुंबई में उत्तर भारतीय और दूसरे राज्यों से आने वाले लोग मुंबई को महान बनाते हैं। भाषा संपर्क का माध्यम मात्र है। भाषा एक-दूसरे को जोड़ती है। भाषा कभी विवाद का माध्यम नहीं हो सकती। इसलिए इस पर विवाद पैदा करना गलत है। वोटों की राजनीति के लिए किसी को भाषावाद को लेकर विवाद नहीं करना चाहिए। हमें मराठी संस्कृति का अभिमान है पर मराठी और मुंबई की संस्कृति के साथ उत्तर भारतीय संस्कृति ने भी शहर की प्रतिष्ठा बढ़ाने में योगदान दिया है।

कमेंट करें
GyrWB