comScore

धार्मिक-सामाजिक कार्यक्रमों का न करें राजनीतिक उपयोग, बैठक में सख्त निर्देश

धार्मिक-सामाजिक कार्यक्रमों का न करें राजनीतिक उपयोग, बैठक में सख्त निर्देश

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। आने वाले त्यौहारों के मद्देनजर उम्मीदवारों एवं राजनीतिक दलों को आगाह किया जाता है कि किसी भी धार्मिक अथवा सामाजिक कार्यक्रमों का राजनीतिक उद्देश्य या पॉलिटिकल केनवासिंग के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, तो उनके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी। धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रमों का राजनीतिक इस्तेमाल को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा और इसके लिए सम्बंधित उम्मीदवार के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। ऐसे कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी भी निर्वाचन कार्यालय द्वारा कराई जाएगी और पॉलिटिकल केनवासिंग का मामला पाए जाने पर आयोजन का पूरा खर्च उम्मीदवार के निर्वाचन व्यय लेखे में शामिल किया जाएगा। यह बात जबलपुर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा का चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों एवं उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं तथा राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक में कही गई।

दिशा निर्देशों का करें पालन
भारत निर्वाचन आयोग की सामान्य प्रेक्षक श्रीमती व्ही अमुथ्थावल्ली एवं व्यय प्रेक्षक वेद प्रकाश मिश्रा की मौजूदगी में आयोजित की गई इस बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने आदर्श आचरण संहिता, निर्वाचन व्यय लेखा के संधारण तथा विभिन्न अनुमतियों के सम्बंध में उम्मीदवारों, उनके निर्वाचन अभिकर्ता और राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को विस्तृत जानकारी दी। श्रीमती भारद्वाज ने इस अवसर पर उम्मीदवारों से अपने चुनावी अभियान में निर्वाचन नियमों एवं निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का कड़ाई पालन करने का आग्रह किया।

अधिकारियों को करें सहयोग
कलेक्टर ने बैठक में लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों तथा इनके उल्लंघन पर की जाने वाली वैधानिक कार्यवाही की जानकारी भी उम्मीदवारों, उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं एवं राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को दी। उन्होंने मतदान के दिन को लेकर निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा - निर्देशों से भी उम्मीदवारों एवं राजनीतिक दलों को अवगत कराया तथा उनसे लोकसभा का स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने में निर्वाचन तंत्र से जुड़े अधिकारियों को सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया।

ये रहे बैठक में मौजूद
बैठक में एक्सपेंडिचर मॉनिटरिंग सेल की नोडल अधिकारी एवं जिला पंचायत की सीईओ रजनी सिंह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ सलोनी सिडाना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव उइके, अपर कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी एमसीएमसी वी पी द्विवेदी भी मौजूद थे।

कमेंट करें
9Upjl