comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मदद के लिए कांगो में ये कर रहा है रेड क्रॉस, देखें video

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 09th, 2017 15:11 IST

1.8k
0
0
मदद के लिए कांगो में ये कर रहा है रेड क्रॉस, देखें video

डिजिटल डेस्क, कांगो। इंटरनेट पर इन दिनों एक वीडियो छाया हुआ है। इस वीडियो में तीन ट्रक कीचड़ और पानी के रास्ते को पार करते दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ ही इनके इर्द गिर्द तीन चार लोग भी दिख रहे हैं जो इन ट्रकों को रास्ता पार करते देख उत्साहित हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये वीडियो कांगो का है जहां लगभग 12 हजार लोग अमानवीय स्थिति में रहने को मजबूर हैं।

मदद के लिए आगे आई ICRC

इंटरनेशनल कमेटी ऑफ रेड क्रॉस इन लोगों की मदद के लिए आगे आई है और इन जगहों पर पहुंच कर इन दयनीय स्थिति में रह रहे लोगों की मदद करने की हरसंभव कोशिश करती है। रोजाना सुबह रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति और राष्ट्रीय सोसाइटी टीम खाने की सामग्री भेजने की हरसंभव कोशिश करती है जिससे कम से कम वो लोग एक वक्त का खाना खा सकें। आईसीआरसी रोजना 9000 लोगों के लिए खाने की व्यवस्था करती है।

Democratic Republic of the Congo: the plight of families fleeing the violence in Kasai

एक टिन शेड में रहने को मजबूर हजारों लोग

कांगो में रहने वाले ये लोगों की स्थिति का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वो लोग एक टिन शेड के नीचे रहने को मजबूर हैं। वहां की रहने वाली महिला का कहना है कि मेरे तीन बच्चे हैं और मैनें आज तक वही कपड़े पहने हैं जो मैं विस्थापन के समय पहन कर आई थी, और मेरे बच्चों के पास तो वो भी नहीं हैं।

क्या है आईसीआरसी?

अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस और रेड क्रेसेंट मूवमेंट एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन है जो लोगों आपदा, लड़ाई और संघर्ष का सामना कर रहे लोगों की हरसंभव मदद करता है। उन्हें खाना मुहैया कराता है और उनके सामाजिक के साथ-साथ आर्थिक विकास के लिए रास्ते बनाता है। इंटरनेशनल रेड क्रॉस संगठन की शुरुआत 1863 में हुई थी और आज इस संस्था के साथ 80 करोड़ से भी ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं, जो आपदा और संघर्ष और सामाजिक प्रताड़ना सहन कर रहे लोगों की वैश्विक स्तर पर मदद की हरसंभव कोशिश करते हैं। इस संगठन में रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति, रेड क्रॉस और रेड क्रेशेंट सोसाइटीज इंटरनेशनल फेडरेशन और 190 राष्ट्रीय रेड क्रॉस और रेड क्रेसेंट सोसाइटी शामिल हैं।
(फोटो सोजन्य- ICRC वेबसाइट)

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें