comScore

हीरा तराशना सीखेंगी युवतियां, पहले 100 का होगा चयन, प्रशिक्षण देगी संस्था

June 30th, 2018 17:33 IST
हीरा तराशना सीखेंगी युवतियां, पहले 100 का होगा चयन, प्रशिक्षण देगी संस्था

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही महिलाओं ने जौहरी का हुनर भी सीख लिया है। कौशल विकास के तहत डाइमंड इंडस्ट्री में रोजगार के अवसर अब युवतियों को भी प्राप्त होंगे। महाराष्ट्र सरकार के राज्य कौशल विकास सोसाइटी व एन.डी. जेम्स डाइमंड कटिंग प्रशिक्षण केंद्र के संयुक्त तत्वावधान में वर्ष 2017  से आरंभ किए गए नि:शुल्क डाइमंड कटिंग प्रशिक्षण केंद्र में अब 100  युवतियों को हीरे तराशने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

पहले 100 युवतियों का किया जाएगा चयन 
उल्लेखनीय है कि अब तक यह प्रशिक्षण केवल पुरुषों को ही दिया जाता था। इसमें महिलाओं का समावेश होने से हीरा कारोबार के क्षेत्र में भी उन्हें रोजगार प्राप्त करने के अवसर प्राप्त होंगे। 10 वीं पास-फेल युवतियां यह प्रशिक्षण ले पाएंगी। केवल आधार कार्ड के आधार पर पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर यहां प्रवेश लिया जा सकता है।  इसे  शत प्रतिशत व्यवसायिक पाठ्यक्रम बनाने के लिए शिक्षण व प्रशिक्षण संचालनालय के  जरीए प्रशिक्षण देने व परीक्षा लेने के बाद प्रमाणपत्र दिए जाएंगे।

प्रशिक्षण प्राप्त युवतियों को मिलेगी अच्छी नौकरी
सरकार द्वारा प्रदान किए जाने वाले प्रमाणपत्र के आधार पर मुंबई और गुजरात में बड़े वेतन पर नौकरी प्राप्त करने का मौका सफल प्रशिक्षणार्थियों को प्राप्त होगा। प्रशिक्षण केंद्र के संचालक निलेश गुल्हाने ने बताया कि युवाओं के साथ युवतियों को प्रशिक्षित करने का निर्णय हाल ही में लिया गया है। हीरा तराशना अत्याधिक एकाग्रता व गंभीरता से किए जाने वाला कार्य है। युवकों की तुलना में युवतियों व महिलाएं किसी भी कार्य के लिए अधिक गंभीर रहती हैं महिलाओं की अपने कार्य के प्रति गंभीरता को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। इस व्यवसाय में महिलाओं के सफलता की शत प्रतिशत गारंटी मानी जा रही है। चंद्रपुर बल्लारपुर व आसपास के क्षेत्र की युवतियों से इस नि:शुल्क प्रशिक्षण का लाभ लेने का आह्वान किया गया है। 

कमेंट करें
spYLh