comScore
Dainik Bhaskar Hindi

चोरी का सोना गिरवी रखकर खेलते थे जुआ, ओला चालकों की करतूत आई सामने

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 11th, 2018 17:57 IST

1.5k
0
0
चोरी का सोना गिरवी रखकर खेलते थे जुआ, ओला चालकों की करतूत आई सामने

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जनता शहर में चलने वाले आटो और टैक्सी पर भरोसा कर सवारी करती है, लेकिन कई बार इन्ही के हाथों उन्हें लुटना पड़ जाता है। ऐसी ही एक घटना हुई जिसमें ओला कार चालकों के नाम सामने आए। ये ओला कार चालक चोरी का सोना गिरवी रखकर जुआ खेलते थे। प्रताप नगर पुलिस की इस कार्रवाई से आधा दर्जन से भी ज्यादा प्रकरणों का खुलासा हुआ है। मामले में और भी गंभीर खुलासे होने की संभावना है।

आरोपियों को है जुए की लत 
जानकारी के अनुसार आरोपी ओला कार चालक कलीम मेहबूब शेख (26), जाफर नगर, सागर ईश्वर भिंगानिया (21), देशराज नगर और रोमी गुरुदयाल साखरे (24), गोधनी रोड काले ले-आउट निवासी है। तीनों मित्र हैं और कार चालक हैं। 4 अगस्त को आरोपी सागर, किरण कापसे (60) नामक महिला का मंगलसूत्र छीनकर भाग गया था। छीना-झपटी में आधा ही मंगलसूत्र सागर के हाथ लगा। प्रकरण दर्ज करते समय किरण ने पुलिस को बताया था कि आरोपी कार से भागा था। कार के पीछे एक चिह्न होने की भी जानकारी उसने दी थी।

CCTV फुटेज के आधार पर पुलिस ने कार का पता ढूंढ निकाला। कार मानकापुर निवासी सलमान ताहिर खान नामक व्यक्ति की होने का पता चला। पूछताछ में सलमान ने पुलिस को बताया कि, एक माह पहले उसने कार खरीदी है और कार ओला कैब में लगाई है। कार चालक के रूप में उसके पास कलीम काम करता है।

6 स्नैचिंग व 2 बैग लिफ्टिंग कर चुके हैं 
सलमान के जरिए पुलिस ने कलीम को फोन कर दिनशॉ फैक्टरी चौक में कार लेकर बुलाया। कलीम कार लेकर आया उस समय कार में रोमी भी था। पुलिस ने दोनों को दबोच लिया। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। सख्ती बरतने पर उन्होंने प्रताप नगर, सोनेगांव, कोराडी और बेलतरोड़ी थाना क्षेत्र में 6 स्नैचिंग और 2 बैग लिफ्टिंग की घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकार की है। आरोपियों को जुए का शौक है। कर्जा लेकर जुआ खेलते हैं। कर्जा उतारने के लिए शुरू में आरोपियों ने चोरी की। चोरी का सेाना मुथुट फायनेंस में गिरवी रखते थे और जुआ खेलते थे। आरोपियों के कब्जे से कार एमएच-49-एफ-0685, मोटर साइकिल एमएच-40-जी-9508, मोबाइल, सोना ऐसे कुल 3 लाख 94 हजार 800 रुपए का माल जब्त किया गया है। 

वारदात के दिन नही लेते थे बुकिंग
आरोपी कार चालक होने से उन्हें शहर के सभी रास्तों की जानकारी थी। वे किसी भी मार्ग से भाग निकलने में सफल होते थे। घटना के दिन आरोपी अोला की बुकिंग नहीं लेते थे। 

CCTV कैमरे से बचने कार का इस्तेमाल
आरोपी पहले दोपहिया वाहन से घटना को अंजाम देते थे, लेकिन शहर भर में सरकारी और निजी CCTV कैमरे लगे होने से आरोपियों को किसी दिन पकड़ में आने का डर सता रहा था। उन्होंने कार का इस्तेमाल करना शुरू किया। इसके बाद भी पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। उपायुक्त नीलेश भरने, सहायक उपायुक्त अशोक सरंबलकर, निरीक्षक राजेंद्र पाठक के मार्गदर्शन में सचिन शिर्के, अभिषेक हरदास, सतीश ठाकरे, सतीश येसनकर, आनंद यादव, अतुल तलमले और धर्मेद्र यादव ने कार्रवाई की है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर