comScore

ऑपरेशन ऑल आउट में 203 आतंकी ढ़ेर, 75 सुरक्षाकर्मी भी शहीद

December 20th, 2017 09:28 IST
ऑपरेशन ऑल आउट में 203 आतंकी ढ़ेर, 75 सुरक्षाकर्मी भी शहीद

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के सफाये के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट में सेना ने 203 आतंकवादियों को मार गिराया है। वहीं आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन में 75 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं। बता दें कि पिछले 3 सालों में सेना की कार्रवाई में मारे गए आतंकवादियों की इस साल सबसे ज्यादा आतंकी ढ़ेर हुए हैं। मंगलवार को लोकसभा में गृह मंत्रालय ने इन आकड़ो की जानकारी दी।

गृह मंत्रालय की तरफ से लोकसभा में जारी किए गए आकड़ो में बताया गया है कि 10 दिसंबर तक सुरक्षा बलों ने 203 आतंकवादियों को मार गिराया है। इन मुठभेड़ों में 75 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं और 37 नागरिकों की भी मौत हई है। पिछले साल सुरक्षाबलों की कार्रवाई में 148 आतंकी मारे गए थे। 2015 में 108 आतंकवादी ढेर हुए थे। पिछले वर्ष आतंकियों से लोहा लेते वक्त 88 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे।

इस साल आतंकी घटनाओं की संख्या में वृद्धि हई है। गृह मंत्रालय के अनुसार 10 दिसंबर 2017 तक 335 आतंकी घटनाएं हुईं। वहीं 2016 में इस समय तक 308 घटनाएं ही हुई थीं। गृह मंत्रालय ने लिखित जानकारी देकर बताया कि केंद्र सरकार का पूरा ध्यान घाटी की सुरक्षा की प्राथमिकता पर रहता है। इसी के चलते सरकार सुरक्षा के हालात की निरंतर समीक्षा करती है और समय-समय पर महत्वपूर्ण कदम उठाने के निर्देश दिए जाते हैं।

दरअसल पिछले साल 8 जुलाई को सुरक्षाबलों ने घाटी में हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को एक मुठभेड़ में मार गिराया था। उसके बाद घाटी में कई महीने तक हिंसक घटनाएं होती रहीं और गतिरोध की स्थिति बनी रही। खराब होते हालात के बीच सुरक्षाबलों ने आतंकियों के सफाये के लिए ऑपरेशन ऑल आउट शुरू किया। ऑपरेशन ऑल आउट के तहत सेना ने न केवल घाटी में सक्रीय आतंकियों का सफाया किया बल्कि सरहद और लाइन ऑफ कंट्रोल पर घुसपैठियों की नापाक हरकतों को भी नाकाम करते हुए कई आतंकियों का सफाया किया। इस ऑपरेशन के तहत सुरक्षाबलों ने कश्मीर घाटी में सक्रिय कई बड़े आतंकियों को ढेर किया है।

LoC पर नहीं रुक रहा पाक का सीजफायर उल्लंघन
गृह मंत्रालय ने जवाब में कहा है कि इस साल LOC पर 10 दिसंबर तक 771 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। इसके साथ ही इंटरनेशनल बॉर्डर पर इस साल नवंबर तक पाकिस्तान ने 110 बार सीजफायर का उल्लंघन किया। वहीं पिछले साल 2016 में 228 और 2015 में 152 बार सीजफायर का उल्लंघन हुआ था।

गृह मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के युवाओं को मुख्यधारा में शामिल करने वाली कई नीतियों पर भी काम कर रही है। इसी के चलते सरकार ने 2015 में प्रधानमंत्री विकास पैकेज पर विशेष ध्यान दिया था।  
 

कमेंट करें
BConL