comScore

शरद पवार के घर पर जुटा विपक्ष, राहुल बोले- सभी ने बीजेपी को हराने का किया कमिटमेंट

February 14th, 2019 14:53 IST

हाईलाइट

  • नेशनल कांग्रेस पार्टी (NCP) चीफ शरद पवार के निवास पर बुधवार शाम एक बार फिर विपक्ष एगजुट हुआ।
  • एक महीने में ये तीसरी दफा है जब पूरा विपक्ष एकजुट हुआ है।
  • विपक्षी पार्टियों की इस मीटिंग में आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को घेरने की रणनीति पर चर्चा हुई।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नेशनल कांग्रेस पार्टी (NCP) चीफ शरद पवार के निवास पर बुधवार शाम एक बार फिर विपक्ष एगजुट हुआ। एक महीने में ये तीसरी दफा है जब पूरा विपक्ष एकजुट हुआ है। विपक्षी पार्टियों की इस मीटिंग में आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को घेरने की रणनीति पर चर्चा हुई। मीटिंग के बाद ऐलान किया गया कि विपक्षी दल  चुनाव से पहले गठबंधन की घोषणा करेंगे। इस मीटिंग में कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी के अलावा टीएमसी की ममता बनर्जी, सुदीप बंधोपाध्याय, डेरेक ओ ब्रायन, एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारुख अब्दुल्ला और टीडीपी के चंद्र बाबू नायडू शामिल हुए।

मीटिंग के बाद राहुल गांधी ने कहा कि सभी दलों के नेताओं के साथ अच्छे माहौल में बातचीत हुई है। बैठक काफी सकारात्मक रही है। उन्होंने कहा 'हम इस बात पर सहमत हुए है कि हम सभी के लिए प्रमुख लक्ष्य नरेंद्र मोदी, भाजपा और आरएसएस द्वारा किए जा रहे भारतीय संस्थानों पर हमले का सफाया करना है। हम एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर बातचीत शुरू करने के लिए भी सहमत हुए हैं और हमने एक कमिटमेंट किया है कि हम सभी मिलकर बीजेपी को हराने के लिए काम करेंगे। हालांकि राहुल ने दिल्ली में आप और बंगाल में टीएमसी से गठबंधन के सवाल को टाल दिया। उन्होंने कहा कि इस पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है।

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा की कि विपक्षी दल लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन की घोषणा करेंगे। उन्होंने जोर देकर कहा कि सभी दलों का कॉमन मिनिमम एजेंडा मोदी सरकार को केंद्र से हटाना है। हम राष्ट्रीय स्तर पर एक साथ काम करेंगे।

NCP चीफ शरद पवार ने कहा कि अभी कुछ भी फाइनल नहीं है, लेकिन एक बेहतर दिशा में अच्छा कदम उठाया गया है। उन्होंने बताया कि 26 फरवरी को एक बार फिर सभी दल मिलकर बात करेंगे।

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'मोदी और शाह ने जैसे पिछले पांच साल में देश का बेड़ा गर्क किया, उसके लिए विपक्षी पार्टियों को साथ आने की जरूरत है।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि एक अच्छे माहौल में बातचीत हुई है। एक अच्छा कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाया जाएगा, जिस पर काम किया जा सके। उन्होंने कहा, 'केजरीवाल के धरने  तय हो गया था कि हम लोग साथ चुनाव में जाएंगे। हमारी कोशिश है कि एक ऐसी सरकार आए जो देश को एक साथ रख सके।'  
 

कमेंट करें
Rtrgy