comScore
Dainik Bhaskar Hindi

Bawana Fire: 17 लोगों की मौत पर राजनीति, आखिर जिम्मेदार कौन?

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 06th, 2018 16:01 IST

4k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली के बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में शनिवार शाम 3 फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। इस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई। वहीं कई लोग घायल हो गए। हादसे के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा दिए जाने का ऐलान किया है। वहीं घायलों को 1 लाख रुपए दिए जाएंगे। केजरीवाल के जांच के आदेश के बाद फैक्ट्री के मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। मनोज जैन पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। हालांकि इस फैक्ट्री का वह इकलौता ओनर नहीं है बाकि लोगों की भी तलाश पुलिस कर रही है। अब इस हादसे को लेकर राजनीति भी शुरु हो गई है। बीजेपी और आम आदमी पार्टी एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं, लेकिन सवाल ये है कि आग में 17 लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन है?

बाहर निकलने का नहीं मिला मौका

शनिवार दोपहर का 03.30 बजे का वक्त था। दिल्ली के बवाना पटाखा फ्रैक्ट्री में कर्मचारी अपने काम में मशगूल थे। तभी अचानक फैक्ट्री में आग लग गई। आग के चलते यहां चीख-पुकार मचने लगी। आग इतनी तेजी से फैली कि कर्मचारियों को बाहर निकलने का मौका ही नहीं मिला। देखते ही देखते 17 लोगों की मौत हो गई। हादसे में 13 लोग पहली मंजिल, 3 ग्राउंड फ्लोर और एक की मौत बेसमेंट में हुई है। मरने वालों में 8 महिलाएं हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कई लोगों ने जान बचाने के लिए तीसरी मंजिल से छलांग लगा दी। आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंची। करीब 3 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। मृतकों में ज्यादातर यूपी और बिहार के रहने वाले है। सभी लोगों की मौत दम घुटने की वजह से बताई जा रही है। वहीं आग लगने का कारणों की जांच की जा रही है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

फायर सर्विस डायरेक्टर का बयान

दिल्ली फायर सर्विस के डायरेक्टर जीसी मिश्रा ने बताया, 'हमें बवाना सेक्टर 1 की प्लास्टिक फैक्ट्री, सेक्टर 5 की पटाखा फैक्ट्री और तीसरी कॉल एक ऑइल स्टोरेज डिपो से मिली थी। सभी मौतें सेक्टर 5 में लगी आग से हुई हैं। आग पर काबू पा लिया गया है। अभी तक हमें 17 शव मिले हैं।' 


फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक मनोज ने प्लास्टिक के दाना बनाने की फैक्ट्री के नाम पर लाइसेंस लिया था, लेकिन वो बाहर से पटाखे मंगाकर यहां उनकी पैकिंग करवाता था। फैक्ट्री में हादसे के वक्‍त काफी ज्यादा पटाखे थे इसलिए आग एकदम फैली और सभी इसकी चपेट में आ गए। हालांकि मनोज ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि वह इस फैक्ट्री का इकलौता मालिक नहीं है। उसका एक पार्टनर भी है जो इस फैक्ट्री को चलाता है। पुलिस अब मनोज के पार्टनर की भी तलाश कर रही है।

5 लाख के मुआवजे का ऐलान

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये और घायल हुए लोगों के परिवारों को 1-1 लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है। वहीं इस मामले के जांच के आदेश भी दिए गए है। 

हादसे पर शुरु हुई राजनीति

बवाना की फैक्ट्री में आग की खबर मिलने का बाद यहां पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी पहुंचे। इसके कुछ देर बाद ही सीएम अरविंद केजरीवाल भी वहां पर आ गए। इस दौरान बीजेपी समर्थकों ने केजरीवाल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जिससे केजरीवाल समर्थकों ने बीजेपी समर्थको के साथ हाथापाई की। दोनों तरफ से काफी देर तक नारेबाजी चलती रही। इस बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल का काफिला वहां फंस गया। BJP समर्थक केजरीवाल की गाड़ी के आगे लेट गए। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने नारेबाजी करने वाले लोगों को मजदूर बताया और कहा कि लोग सरकार से गुस्सा है इसीलिए नारबाजी कर उनका गुस्सा फूट रहा है। वहीं उन्होंने अरविंद केजरीवाल के देर से आने पर जमकर कोसा।


हादसे का जिम्मेदार कौन?

बीजेपी और आम आदमी पार्टी एक दूसरे को इस हादसे का जिम्मेदार बता रही है। इस बीच बीजेपी दक्षिणी दिल्ली की मेयर प्रीति अग्रवाल कैमरे के सामने BJP के जिला अध्यक्ष नील दमन खत्री से बातचीत करती हुईं नजर आईं। इसका वीडियो वायरल होने के बाद अरविंद केजरीवाल ने इसे रीट्वीट किया। इस वीडियों में प्रीति अग्रवाल BJP के जिला अध्यक्ष नील दमन खत्री से कहती नजर आ रही है कि एरिया के लाइसेंस की जिम्मेदारी एमसीडी की है, इसलिए इस पर कुछ नहीं बोलना है।

हालांकि जब मीडिया ने बाद में उनसे इस मामले पर प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं था लाइसेंस एमसीडी जरूर देती है, लेकिन इस घटना से उनका कोई लेना-देना नहीं। दिल्ली एमसीडी की तीनों सीटों पर बीजेपी के मेयर है वहीं DSIIDC और दमकल विभाग दिल्ली सरकार के अंतर्गत आता है। इससे साफ होता है कि हादसे के लिए कोई एक जिम्मेदार नहीं है।


पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बवाना में लगी आग और मौतों पर दुख जताया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा, 'बवाना की फैक्ट्री में आग की खबर से दुखी हूं। इस घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।' 

अरविंद केजरीवाल का ट्वीट

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि वह बचाव अभियानों पर नजर रख रहे हैं। CM ने बताया कि दिल्ली सरकार ने बवाना की फैक्ट्रियों में आग लगने की घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download