comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'पद्मावती' गुजरात में भी बैन, अब तक 5 राज्यों में रिलीज पर लगी रोक

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 23rd, 2017 19:14 IST

852
0
0

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने राज्य में फिल्म पद्मावती के रिलीज पर रोक की बात कही है।इसके साथ ही ये फिल्म यूपी, एमपी, पंजाब और राजस्थान के बाद पांच राज्यों में बैन कर दी गई है। एक टीवी चैनल से बातचीत में सीएम रुपाणी ने इसे कानून व्यवस्था के लिए खतरा बताया और कहा कि हमारे पास इस फिल्म के रोक के अलावा कोई चारा नहीं है।

गौरतलब है कि गुजरात में अगले महीने ही विधानसभा के लिए मतदान होना है। राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल भी फिल्म का विरोध कर चुके हैं। मालूम हो कि फिल्म के रिलीज को लेकर खासकर राजस्थान में करणी सेना की तरफ से लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

सीएम रुपाणी ने कहा कि इसके रिलीज होने से कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है। राजपूत समाज से जुड़े संगठनों का आरोप है कि पद्मावती फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर दिखाया गया है। फिल्म में पद्मावती का किरदार चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मिनी से प्रेरित बताया जाता है। 

बताते चलें कि फिल्म पद्मावती पहले 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी, जिसे फिलहाल निर्माता ने टाल दिया है। उधर संजय लीला भंसाली का कहना है कि दर्शक पहले फिल्म देख लें, उसके बाद ही निर्णय लें कि उसमें कुछ गलत है या नहीं। 

इन पांच राज्यों में बैन, तर्क ये है

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने इसे इतिहास के साथ छेड़छाड़ बताकर राज्य में फिल्म को बैन कर दिया है।

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राजपूत संगठनों से मुलाकात कर पद्मावती को राजमाता का दर्जा देते हुए पूरे राज्य में बैन कर दिया है।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी कहा है कि जब तक 'पद्मावती' फिल्म में आवश्यक बदलाव नहीं किए जाएंगे, इस मूवी को राजस्थान में रिलीज करने की सरकार अनुमति नहीं देगी।

यूपी सरकार ने केंद्रीय सूचना प्रसारण सचिव को लिखे खत में फिल्म को शांति के लिए खतरा बताया है। डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि जब तक फिल्म की स्क्रिप्ट में बदलाव नहीं होता है, इसे यूपी में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा। 

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने फिल्म का समर्थन करते हुए 'पद्मावती' के विरोध को सुपर इमरजेंसी बताया है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर