comScore

पाक ने बनाए 30 लॉन्चपैड, कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की साजिश

पाक ने बनाए 30 लॉन्चपैड, कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की साजिश

हाईलाइट

  • पाक एक बार फिर अपनी स्टेट पॉलिसी के रूप में आतंक का इस्तेमाल कर रहा है
  • पाकिस्तान ने आतंकवादियों की घुसपैठ के लिए 30 लॉन्च पैड बनाए हैं
  • सुरक्षा एजेंसियों के विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से यह बात कही जा रही है

डिजिटल डेस्क, जम्मू। कूटनीतिक मोर्चे पर फेल होने के बाद पाकिस्तान एक बार फिर अपनी स्टेट पॉलिसी के रूप में आतंक का इस्तेमाल कर रहा है। पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा के करीब केरन, गुरेज़ और गुलबर्ग इलाकों में आतंकवादियों की घुसपैठ के लिए 30 लॉन्च पैड बनाए हैं। सुरक्षा एजेंसियों के विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से यह बात कही जा रही है।

सूत्र बताते हैं कि पाकिस्तानी सेना और आईएसआई (इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस) एजेंट लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों को इन लॉन्च पैड्स में ले जा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि 'अफगानिस्तान से आतंकवादियों को नियंत्रण रेखा की ओर शिफ्ट किया जा रहा है। करीब 230 से 280 आतंकवादियों को शिफ्ट भी कर दिया गया है।'

बता दें कि पाकिस्तान लगातार जम्मू-कश्मीर में हालातों को बिगाड़ने की कोशिश में जुटा है। पिछले हफ्ते, दो पाकिस्तानी आतंकवादियों ने डांगरपुरा में फल व्यापारी हमीदुल्लाह राथर के घर में घुसकर परिवार के सदस्यों पर गोलियां चलाईं थी। इस फायरिंग में उनकी ढाई साल की बेटी उस्मा और बेटा मोहम्मद इरशाद घायल हो गया था। हालांकि बुधवार को जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी आसिफ मकबूल भट को मार गिराया था। भट बच्ची पर हमले में शामिल था।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने हाल ही में कहा था कि पाकिस्तान परेशानी पैदा करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा था, 230 पाकिस्‍तानी आ‍तंकियों की पहचान हुई है जो भारत में घुसपैठ की फिराक में हैं। कुछ पाकिस्‍तानी आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की है जिन्‍हें पकड़ लिया गया है।

बता दें कि भारत ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे के अंतर्राष्ट्रीयकरण के पाकिस्तान के प्रयासों को प्रभावी ढंग से विफल कर दिया है। दुनिया के सभी प्रमुख देशों ने अनुच्छेद 370 को हटाने के भारत के कदम का समर्थन किया है। अगले महीने फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) भी पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट करने या उसे अपनी ग्रे लिस्ट में रखने या नहीं रखने पर अंतिम निर्णय लेगी। 
 

कमेंट करें
DleLW