comScore

पीएम मोदी का नाम लेते ही पाकिस्तान के रेल मंत्री को लगा करंट, देखें वीडियो


हाईलाइट

  • पाकिस्तान के रेल मंत्री को पीएम मोदी का नाम लेते ही बिजली का झटका लग गया
  • वह जम्मू-कश्मीर के स्पेशल स्टेटस को हटाए जाने के विरोध में रैली कर रहे थे
  • इस घटना का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद को शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेते ही बिजली का झटका लग गया। शुक्रवार को वह जम्मू-कश्मीर के स्पेशल स्टेटस को हटाए जाने के विरोध में रैली कर रहे थे। इस घटना का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को अपने देश के लोगों को 12 से 12.30 के बीच सड़कों पर आकर कश्मीरी लोगों के साथ 'एकजुटता' दिखाने को कहा था। इसी कड़ी में पाकिस्तानी सरकार में रेल मंत्री शेख रशीद एक सभा को संबोधित कर रह थे।

इस दौरान जैसे ही उन्होंने कहा 'हम तुम्हारी मोदी नीतियों से वाकिफ है' उनके माइक में करंट आ गया और वह घबरा गए। इस पर वहां खड़े लोग हंसने लगे। हालांकि बाद में माहौल को संभालते हुए उन्होंने कहा कि लगता है कि करंट लगा है, लेकिन ये मोदी इस जलसे को नाकाम नहीं कर सकता है।

रैली के बाद रावलपिंडी में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री खान और सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा के कार्यकाल के दौरान कश्मीर मुद्दे को हल किया जाएगा। राशिद ने कहा कि समझौता एक्सप्रेस और थार एक्सप्रेस दोनों ट्रेनें कश्मीरी लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए बंद की गईं है।

बता दें कि शेख रशीद भारत के खिलाफ भड़काऊ बयान देते रहे हैं। कुछ दिन पहले पाकिस्तान के एक निजी चैनल से बातचीत में रशीद ने कहा था, 'भारत -पाकिस्तान के बीच अक्टूबर के आखिर और नवंबर-दिसंबर में युद्ध होगा। उन्होंने कहा था कि वह इसके लिए अपने देश को तैयार कर रहे हैं। रशीद ने कहा था 'हमने ये हथियार कोई दीवाली पर चलाने के लिए नहीं रखे हैं। अगर पाकिस्तान की जिंदगी और मौत का वक्त आ गया तो वह भारत पर हमला कर देगा।' 

5 अगस्त को मोदी सरकार के जम्मू और कश्मीर के स्पेशल स्टेटस को खत्म करने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। कश्मीर पर भारत के कदम पर प्रतिक्रिया देते हुए, पाकिस्तान ने नई दिल्ली के साथ अपने राजनयिक संबंधों को डाउनग्रेड कर दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया था। दोनों देशों के बीच चलने वाली ट्रेन और बस सेवाओं को भी पाकिस्तान सस्पेंड कर चुका है।

इस मामले को लेकर पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय समूदाय के सामने भी गुहार लगाई लेकिन उसे नाकामी ही हाथ लगी। भारत ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट रूप से कहा है कि आर्टिकल 370 हटाना भारत का एक आंतरिक मामला है और पाकिस्तान को वास्तविकता स्वीकार करने की सलाह भी दी है।

कमेंट करें
EAuzt