comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पाकिस्तान के पहले सिख पुलिस ऑफिसर से बदसलूकी, परिवार सहित घर से निकाला

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 11th, 2018 17:48 IST

6.9k
0
0

News Highlights

  • पाकिस्तान के पहले सिख पुलिस ऑफिसर गुलाब सिंह से बदसलूकी।
  • गुलाब सिंह के साथ हाथापाई की गई फिर परिवार सहित घर से निकाला।  
  • गुलाब सिंह 1947 से लाहौर के डेरा चहल इलाके में रह रहे हैं।



डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पहले सिख पुलिस ऑफिसर के साथ बदसलूकी और जबरन उन्हें घर से बाहर निकालने का मामला सामने आया है। लाहौर में मंगलवार को गुलाब सिंह के साथ उनके घर में कुछ लोगों ने हाथापाई की और परिवार सहित उन्हें घर से बाहर निकाल दिया। वीडियो जारी कर गुलाब सिंह ने घटना की पूरी जानकारी दी साथ ही पुलिस से मदद की अपील की है।

गुलाब सिंह ने आरोप लगाया है कि उन्हें लाहौर स्थित उनके घर से जबरन बाहर निकाला गया, उनकी पगड़ी खोल दी गई, पूरे परिवार को धक्का देकर घर से बाहर निकाल कर घर पर ताला लगा दिया गया। गुलाब सिंह ने अपने साथ हुई इस घटना का वीडियो जारी कर पाकिस्तान में सिखों के साथ हो रहे अत्याचार का सबूत पेश किया है। गुलाब सिंह ने बताया कि वह 1947 से लाहौर के डेरा चहल इलाके में रह रहे हैं।

गुलाब सिंह ने पुलिस से आग्रह किया कि, कम से कम 10 मिनट का समय दिया जाए। क्योंकि वह यहां 1947 से रह रहे हैं, लेकिन किसी से उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया। वीडियो में उन्होंने कहा, मैं गुलाब सिंह पाकिस्तान का पहला सिख ट्रैफिक वॉर्डन हूं।

मेरे साथ चोर-डाकुओं के जैसा सलूक किया जा रहा है। मुझे मेरे घर से घसीटकर बाहर निकाला गया और मेरे घर में ताला लगा दिया गया। 


उन्होंने ये भी कहा कि एडिशनल सेक्रेटरी तारिक वजीर और पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व प्रधान तारा सिंह ने कुछ लोगों को खुश करने के लिए यह काम किया है। कोर्ट में मेरे केस भी चल रहे हैं। गांव में सिर्फ मुझे ही निशाना बनाया जा रहा है। गुलाब सिंह ने अपील की है कि, मेरी ज्यादा से ज्यादा मदद करें और इस वीडियो को शेयर कर पूरी दुनिया को बताएं कि पाकिस्तान में सिखों के साथ कितनी ज्यादती हो रही है। 


गौरतलब है कि पाकिस्तान में लगातार सिख और हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है। महीने ही पाकिस्तान में भी सिख कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी। खैबर पख्तूनवा प्रांत के पेशावर में सिख धर्मगुरु चरणजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पाकिस्तान में तालिबानी अल्पसंख्यक हिंदू और सिख समुदाय के लोगों को निशाना बना रहे हैं। 

 
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download