comScore

शर्मनाक हरकत कर खुद को यूं तसल्ली दे रहा पाक मीडिया, कहा किसी ने नहीं क्रॉस की LOC

December 28th, 2017 14:30 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ‘उल्टा चोर कोतवाल को डांटे’ ये कहावत पाकिस्तानी मीडिया पर एकदम सटीक बैठती है, कितने ही ऐसे मौके आए हैं जब पाक मीडिया ने उन सभी इल्जामों को सिरे से खारिज कर दिया, जिसपर पूरे विश्व में पाक सवालिया निशानों के घेरे में हो। कुलभूषण की पत्नी की जूतियों को पाक के रखने की बात पर पाक मीडिया में कहा जा रहा है ‘कुलभूषण की पत्नी की जूतियों में कोई मशकूक (संदिग्ध) चीज मिली है जिसकी जांच फॉरेंसिक लैब में की जा रही है, जबकि उनके जेवरात उन्हें वापस लौटा दिए गए हैं। वहीं दूसरी ओर एलओसी क्रॉस करने के मामले में भी पाक ने उसे भारत का अवाम को संतुष्ट करने के लिए बेबुनियाद प्रोपेगेंडा बताया।‘ 

‘अहसान के बदले इल्जाम’

दरअसल कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी की मुलाकात के समय पाक के रवैये की कड़ी निंदा की जा रही है। जिस तरह से पाक में कुलभूषण जाधव के परिजनों से बदसलूकी की गई, मुलाकात से पहले कपड़े बदलवाए गए, मातृ भाषा में बातचीत की इजाजत नहीं दी, और तो और मुलाकात के बाद जब दोनों बाहर आईं तो कुलभूषण जाधव की पत्नी को उनके फुटवियर तक नहीं लौटाए गए। 

इन सब के बावजूद पाक मीडिया का कहना है 'ये तो अहसान- फरामोशी की बात हो गई है कि हमने तो एक आंतकवादी के परिजनों को मिलवाकर अहसान किया जबकि भारत उन्हीं पर इल्जाम लगा रहा है। सुरक्षा के कारणों से उनकी जांच की गई और कुलभूषण की पत्नी की फुटवियर में ऐसी मशकूक (संदिग्ध) चीज मिली है जिसकी जांच की जा रही है कि कहीं वो कोई कैमरा या चिप तो नहीं।

भारत की सीजफायरिंग से जवानों की मौत का दावा

पाक मीडिया का दावा किया गया कि जिस एक्शन पर पूरे भारत में सेना वाहवाही लूट रही है वो बात अस्तित्व में है ही नहीं। पाक मीडिया का कहना है कि ‘भारत ने अपने अवाम को मुतमइन करने के लिए बेबुनियादी प्रोपेगेंडा किया है।  किसी भारतीय ने एलओसी क्रॉस नहीं किया। जिस सच से पर्दा मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने ट्वीट करके उठाया और ये भारतीय दावा मुस्तरद (खारिज) कर दिया। भारतीय मीडिया का ये दावा महज अपने नाजनीन (जनता) को मुतमयीन (खुश) करने के लिए हैं।

खैर ये कोई पहला मौका नहीं है, जब पाक सेना ने सरहद पर हुई अपनी किरकिरी को नकार दिया हो। इससे पहले जब सितंबर 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने पाक के घर में घुस कर उसे करारा जवाब दिया था तब भी पाक ने इस पूरे अभियान को ही झुठला दिया था।

भारतीय सेना के सीज फायर से हुई जवानों की मौत

पाक ने उन तीन पाकिस्तानी सैनिकों की मौत को भी एक अलग ही ऐंगल दे दिया है। भारतीय सेना ने जिन जवानों को अपनी गोली का शिकार बनाकर भारतीय जवानों की शहादत का बदला बताया था, उसपर पाक मीडिया का कहना है कि 3 जवानों की मौत भारत की सीज फायर की नापाक हरकत से हुई है। जिन्हें पूरे रीति-रिवाज से सुपुर्द-ए-खाक किया गया। वहीं ये भी कहा गया कि इस सीज फायर पर पाक सेना प्रमुख ने तुरंत भारतीय राजदूत को बुलाकर मीटिंग की और भारतीय सेना के इस रवैये पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

कमेंट करें
2vWcJ