comScore

कश्मीर मुद्दे पर इमरान ने फिर अलापा बातचीत का राग, पीएम मोदी को लिखा पत्र


हाईलाइट

  • इमरान खान ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर उनसे बातचीत करने की इच्छा जताई है
  • इमरान खान कश्मीर मुद्दे सहित अन्य समस्याओं का मीटिंग कर हल निकालना चाहते हैं
  • इससे पहले भारत ने कहा था एससीओ शिखर सम्मेलन में दोनों देशों के बीच कोई मीटिंग नहीं होगी

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे बातचीत करने की इच्छा जताई है। इमरान खान कश्मीर मुद्दे सहित अन्य समस्याओं का पीएम मोदी से मीटिंग कर हल निकालना चाहते हैं। इमरान खान का यह बयान भारत के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी किए गए उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि बिश्केक में होने जा रहे एससीओ शिखर सम्मेलन में दोनों देशों के बीच कोई मीटिंग नहीं होगी।

पाकिस्तान के जियो टीवी के मुताबिक मोदी को लिखे पत्र में इमरान खान ने उन्हें भारत के प्रधानमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए बधाई दी। उन्होंने पत्र में कहा, दोनों देशों के बीच बातचीत ही समस्या का समाधान निकाल सकती है। लोगों को गरीबी दूर करने में मदद करने के लिए और क्षेत्रीय विकास के लिए मिलकर काम करना महत्वपूर्ण है। खान ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर समस्या सहित सभी समस्याओं के समाधान की इच्छा रखता है।

मोदी के दोबारा सत्ता में आने के बाद यह दूसरी बार है जब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने अपने लोगों की बेहतरी के लिए भारत के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था और 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर भारत की कार्रवाई  के बाद दोनों देश लगभग युद्ध की कगार पर थे और अगले दिन पाकिस्तान ने जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी जिसे एयरफोर्स ने नाकाम कर दिया था।

26 मई को इमरान खान ने पीएम मोदी तो आम चुनाव में चुनावी जीतने पर बधाई दी थी और कहा था कि वह एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। जवाब में, पीएम मोदी ने जोर देकर कहा था कि क्षेत्र में शांति, प्रगति और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए आतंकवाद और हिंसा से मुक्त वातावरण बनाना जरूरी है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में कहा था, 'मेरी जानकारी के अनुसार, किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में एससीओ शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के बीच बैठक की कोई योजना नहीं है।' एससीओ शिखर सम्मेलन के बाद भारत की ओर से पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता आयोजित करने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर, कुमार ने अपना बयान दोहराया कि निकट भविष्य में कोई वार्ता की योजना नहीं बनाई गई है।'

बता दें कि पीएम मोदी 13-14 जून को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के वार्षिक शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे हैं। इस सम्मेलन में इमरान खान भी शामिल होंगे।

कमेंट करें
grKwL