comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पीएम मोदी के पकौड़ा बेचने की सलाह शहर में लागू करे सरकार : कांग्रेस

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 13th, 2018 17:20 IST

2.5k
0
0
पीएम मोदी के पकौड़ा बेचने की सलाह शहर में लागू करे सरकार : कांग्रेस

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर महानगरपालिका (मनपा) की सभा में ‘पकौड़ा’ पर चर्चा आकर्षण का केंद्र बन सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने की सलाह को नागपुर शहर में अमल में लाने की मांग कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक संदीप सहारे ने की है। इस विषय पर 20 फरवरी की मनपा सभा में प्रश्नोत्तर में चर्चा के लिए उन्होंने नोटिस दिया है। हालांकि सत्तापक्ष इसे कितना महत्व देता है, यह सभा में स्पष्ट होगा। सहारे ने पकौड़ा रोजगार के लिए बेरोजगारों को शहर के फुटपाथ, बाजार व मनपा की खुली जगह देने की मांग की है।

किराए पर जगह उपलब्ध कराए
पिछले दिनों एक साक्षात्कार ने प्रधानमंत्री ने बेरोजगारों को पकौड़ा रोजगार उपलब्ध कराने की जानकारी दी थी। नगरसेवक संदीप सहारे ने कहा कि मनपा इसका सम्मान करते हुए शहर के बेरोजगारों को पकौड़े का ठेला लगाने के लिए किराए पर जगह उपलब्ध कराए। फिलहाल सोशल मीडिया पर पकौड़ा रोजगार चर्चा का विषय बना हुआ है। कांग्रेस और भाजपा में वार-पलटवार हो रहे हैं। सहारे ने कहा कि उपराजधानी में बड़े पैमाने पर सुशिक्षित बेरोजगार हैं। इस बहाने सभी को रोजगार मिल सकेगा।

रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रयास की जरूरत
बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रयास करने की जरूरत है। रोजगार मिलने पर बेरोजगारों के जीवन में बदलाव आएगा। प्रधानमंत्री का उद्देश्य भी साध्य होगा। इसके लिए मनपा शहर में फुटपाथ, बाजार व खुली जगह उपलब्ध कराए। सहारे ने कहा कि अगर इस सवाल को प्रश्नोत्तर में शामिल नहीं किया जाता है, तो इसका जवाब सभागृह में मांगा जाएगा। जिस कारण आगामी सभा में पकौड़ा आकर्षण बन सकता है।

नागपुर में 2 लाख से अधिक बेरोजगार
काम की तलाश में आने वाले व्यक्तियों को रोजगार, स्वरोजगार के लिए समुपदेशन, मार्गदर्शन व मदद करने के लिए प्रत्येक जिले में कौशल्य विकास, रोजगार व उद्योजकता मार्गदर्शन केंद्र बनाए गए हैं। जिले में (शहर व ग्रामीण) लगभग 2 लाख 1 हजार 407 बेरोजगारों का पंजीयन होने का उल्लेख मार्गदर्शन केंद्र में है। इसमें 71 हजार 672 महिला शामिल हैं। 31 दिसंबर 2017 तक  के यह आंकड़े हैं।

ऐसे हैं शिक्षित व उच्च शिक्षित बेरोजगार 

कक्षा दसवीं                       -56 हजार 424 
कक्षा बाहरवीं                     -59 हजार 11 
इंजीनियर स्नोतकोतर        -5 हजार 662 
इंजीनियर पदवी (बीई)        -6 हजार 597 
आईटीआई                        -11 हजार 811 
कला शाखा में स्नातक        -12 हजार 125 
वाणिज्य शाखा में स्नातक   -8 हजार 455 
विज्ञान शाखा में स्नातक     -3 हजार 283 
कृषि स्नातक                     -27 
कृषि स्नातकोतर                -5 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download