comScore
Dainik Bhaskar Hindi

जानें क्या संकेत दे रहा है आपकी हथेली का ये तिल

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 29th, 2017 12:11 IST

1.4k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। हथेली पर तिल का अत्यधिक महत्व है। ठीक वैसे ही जैसे हाथ की रेखाओं का महत्व होता है। ये व्यक्तित्व के साथ भविष्य के भी सूचक होते हैं। कई बार हथेली पर अचानक ही तिल बन जाते हैं। इसका मतलब होता है कि आपके व्यक्तित्व में परिवर्तन आया है और वह स्पष्ट रूप से नजर भी आने लगता है। यहां हम आपको हथेली पर तिल के महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं... 


-जिन लोगों की हथेली में तिल चंद्र पर्वत पर होता है उनके विवाह में देरी होती है। इन लोगों को पानी अर्थात नदी, तालाब, कुएं या समंदर से सावधान रहना चाहिए।

-गुरू पर्वत पर तिल होने का मतलब होता है विवाह में परेशानी आना, अर्थात रिश्ते मिलने के बाद भी बार-बार बात नही बनना। 

-शुक्र पवर्त पर यदि तिल देखने मिले तो विचारों में नीरसता का भाव देखने मिलता है। ऐसा भी कहा जा सकता है विचारों की पवित्रता समाप्त होती है।

-शनि पर्वत पर तिल होने से विवाह में देरी भी होती है और अन्य परेशानियां भी आती हैं। विवाहोपरांत भी सुखद परिणाम मिलना मुश्किल होता है।

-यदि यही तिल सूर्य पर्वत पर है तो मान-सम्मान में कमी आती है। सामाजिक प्रतिष्ठा धुमिल होती है और अपमान का भी सामना करना पड़ता है। 

-तिल यदि विवाह रेखा पर है तो समझिए विवाह मे विलंब होना निश्चित है।

-किसी स्त्री के सीधे हाथ की हथेली में तिल है और यदि वह मुट्ठी बांधते  ही अंदर चला जाता है तो समझिए वह पैसे बचाकर काम करने वालों में से है। यदि तिल मुट्ठी के बाहर जा रहा है तो वह बेहद खर्चीली होगी। 

-जीवन रेखा पर तिल होना गंभीर रोगों का सूचक माना गया है। इसे शुभ नही माना जाता। 

-यदि मस्तिष्क रेखा पर तिल है तो सिर से जुड़ी अनेक समस्याओं का सामना करना पडे़गा। गंभीर बीमारी भी हो सकती है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर