comScore
Dainik Bhaskar Hindi

3 घंटे तक हनुमान चालीसा पढ़ता रहा मरीज... और डॉक्टरों ने कर दिया ऑपरेशन

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 27th, 2018 15:08 IST

5.4k
0
0
3 घंटे तक हनुमान चालीसा पढ़ता रहा मरीज... और डॉक्टरों ने कर दिया ऑपरेशन

डिजिटल डेस्क। अक्सर ऐसा होता है, जब मरीज का ऑपरेशन होते समय उसके परिजन भगवान से सलामती की दुआएं मांगते रहते हैं, लेकिन इससे अलग एक मामला ऐसा सामने आया है, जब डॉक्टर एक जटिल ऑपरेशन करते रहे और मरीज पूरे समय हनुमान चालीसा पढ़कर खुद की सलामती के लिए प्रार्थना करता रहा। 

ये घटना राजस्थान के बीकानेर की है, जहां ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित एक मरीज का डॉक्टरों ने सफल ऑपरेशन किया है। पेशे से अकाउंटेंट 30 वर्षीय मरीज डूंगरगढ़ का रहने वाला है। डॉक्टरों ने उसे बताया था कि ऑपरेशन के दौरान उसे बेहोश नही किया जाएगा। ये बात सुनकर पहले तो वह काफी घबरा गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे बताया कि इस सर्जरी के दौरान उसका जागते रहना बहुंत जरूरी है, नहीं तो उसकी आवाज हमेशा के लिए जा सकती है। समझाइश के बाद मरीज ऑपरेशन करवाने के लिए तैयार हो गया।

मरीज को ब्रेन के एक हिस्से में ट्यूमर था, जिसके कारण उसे बोलने में दिक्कत होती थी, जांच के बाद डॉक्टों ने उसका ऑपरेशन करने का फैसला लिया था। दर्द न हो इसलिए डॉक्टरों ने उसे एनिस्थीसिया देकर ऑपरेशन शुरू किया। सर्जरी 3 घंटे तक चला और इस दौरान मरीज पूरे समय हनुमान चालीसा पढ़ता रहा।

डॉक्टरों को भी मिली हनुमान चालीसा से मदद

डॉक्टरों ने बताया कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि आवाज को नियंत्रित करने वाला ब्रेन का का भाग डैमेज न हो। मरीज के लगातार हनुमान चालीसा पढ़ते रहने से डॉक्टरों को भी काफी मदद मिली। 

 
जयपुर में इस तरह की पहली सर्जरी

मरीज को पिछले तीन महीने से मिर्गी के दौरे पड़ रहे थे। इसके बाद डॉक्टरों ने उसकी बायोप्सी की और रिपोर्ट में सामने आया कि उन्हें ग्रेड 2 ब्रेन ट्यूमर है। सर्जरी के लिए जयपुर के डॉक्टर तैयार हो गए। दावा किया जा रहा है कि यह जयपुर की पहली सर्जरी है। इस टेक्नीक को अवेक अवेक क्रेनियोटोमी कहा जाता है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download