comScore
Dainik Bhaskar Hindi

 83 प्रतिशत का सत्यापन हुआ, शेष की फिर से परीक्षा पर विचार होगा : व्यापम

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 09th, 2017 19:50 IST

2.6k
0
1

डिजिटल डेस्क,भोपाल। प्रदेशभर में आज से शुरू हुई पटवारी परीक्षा हंगामे की भेंट चढ़ गई है। बताया जा रहा है कि प्रदेश के 20 शहरों में सर्वर ही ठप हो गया। परीक्षार्थियों को पंजीयन के लिए 9 बजे का समय दिया गया था, लेकिन सर्वर ठप होने से पंजीयन नहीं हो पाया। इसका खामियाजा परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों को भुगतना पड़ा।राजधानी भोपाल के कॉर्पोरेट, एलएनसीटी और ट्रिनिटी कॉलेज में सर्वर डाउन होने से छात्रों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। छात्रों ने हंगामा और नारेबाजी करते हुए परीक्षा शुल्क वापस करने की मांग की। इधर जबलपुर में टेक्नीकल इंजीनियरिंग और ग्लोबल कॉलेज में भी विवाद की स्थिति बन गई। परीक्षा शुरु नहीं होने पर छात्रों ने हंगामा शुरु कर दिया।

 83 प्रतिशत का सत्यापन हुआ, शेष की पुन: परीक्षा पर विचार होगा

वहीं शनिवार देर शाम मप्र व्यापम ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि पटवारी परीक्षा में 83 प्रतिशत उम्मीदवारों का सत्यापन हुआ तथा शेष की पुन: परीक्षा लेने पर विचार होगा। व्यापम के परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा  9 दिसम्बर से 29 दिसम्बर तक 16 शहरों में आयोजित की जा रही है। 9 दिसम्बर की प्रथम पाली में 26 हजार 887 अभ्यर्थियों में से 18 हजार 872 यानि 70 प्रतिशत अभ्यर्थियों का आधार सत्यापन सफलतापूर्वक किया गया एवं सभी 18 हजार 872 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। क्ष्तिीय पाली में कुल 26 हजार 887 अभ्यर्थियों में से 22 हजार 360 यानि 83 प्रतिशत अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों पर उपस्थित हुए, सभी का आधार सत्यापन सफलतापूर्वक किया गया एवं सभी अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। यदि परीक्षा की प्रथम पाली में किन्हीं कारणों से अभ्यर्थियों का आधार सत्यापन संभव नहीं हो सकता तो ऐसे अभ्यर्थियों के लिए पुन: परीक्षा आयोजित किए जाने पर व्यापम विचार करेगा।




सर्वर डाउन, छात्र परेशान


दरअसल पटवारी परीक्षा केंद्रों के बाहर आधार लिंक कराना था। ऑनलाइन परीक्षा में प्रवेश के लिए हर उम्मीदवार की बायोमेट्रिक मिलान और पहचान दर्ज करने के निर्देश केंद्रों को दिए गए हैं। बिना आधार कार्ड और फिंगर प्रिंट मैचिंग के परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं दिया गया। सर्वर डाउन होने के कारण परीक्षार्थी को आधार लिंक कराने के बाद रजिस्ट्रेशन कराने में काफी वक्त लगा, जिससे बड़ी संख्या में छात्र केंद्रों के बाहर ही खड़े रह गए।

फीस लौटाने की भी मांग


9200 पटवारी पदों की भर्ती के लिए आज से शुरु हुई परीक्षा में सर्वर डाउन होने से कई परीक्षा केंद्रों पर हंगामा हुआ। इस दौरान परीक्षा में दूसरे जिलों से आए परीक्षार्थियों ने पैसे वापस की मांग की है। उनका कहना है कि वो दूरदराज के इलाकों से परीक्षा देने आए हैं। सर्वर डाउन होने से परीक्षा नहीं हो पाई, इसलिए परीक्षा शुल्क वापस किया जाए।

रजिस्ट्रेशन का वक्त बढ़ाया गया


सर्वर की इस समस्या के चलते केंद्र के पर्यवेक्षक भी परेशान रहे।  व्यापमं के परीक्षा कंट्रोलर एकेएस भदौरिया का कहना है कि प्रदेशभर के केन्द्रों से सर्वर के कारण परेशानी होने की जानकारी मिली है। लगातार सामने आ रहीं परेशानियों के बाद पटवारी परीक्षा के रजिस्ट्रेशन का समय 12 बजे तक बढ़ाया गया।

9 दिसंबर से 29 दिसंबर तक परीक्षा


गौरतलब है कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड भोपाल ने जिले में 9 दिसंबर से 29 दिसंबर तक पटवारी  परीक्षा का आयोजन किया है। परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जा रही है। पहली पारी की परीक्षा सुबह 9 बजे से 11 बजे तक दूसरी पाली की परीक्षा का वक्त 3 बजे से 5 बजे तक हो रही है।


 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर