comScore
Election 2019

नहीं पहुंच रहा था पेंच का पानी, ठेकेदार ने नहर के बीचों-बीच बना लिया था पुलिया

नहीं पहुंच रहा था पेंच का पानी, ठेकेदार ने नहर के बीचों-बीच बना लिया था पुलिया

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  शहर में पानी की समस्या से लोग जूझ रहे हैं इस बीच पानी की बर्बादी का एक बड़ा खुलासा हुआ है। सभी हैरान थे कि नवेगांव खैरी प्रकल्प से छोड़ा जाने वाला पानी आधा ही कन्हान वितरण केन्द्र पर क्यों पहुंच रहा है? नहर का दौरा करने पर सामने आया कि वेस्टर्न कोल फील्ड लिमिटेड के एक ठेकेदार ने नहर के बीचों-बीच दो पाइप डालकर एक पुलिया बना दिया था, इस वजह से ऐसा हो रहा है। अब मनपा ने डब्ल्यूसीएल के ठेकेदार के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करवाई है।

बैठक में चर्चा के बाद जांच करने पहुंचे अधिकारी
जानकारी के अनुसार, सिंचाई विभाग से पेंच प्रकल्प के माध्यम से 75 क्यूसेक्स पानी कन्हान के लिए छोड़ा जाता है, लेकिन काफी समय से जितना पानी छोड़ा जा रहा है, उससे आधा ही पानी कन्हान में पहुंच रहा था। जबकि नहर से पानी छोड़ने पर 95 फीसदी पानी पहुंचना चाहिए। गर्मी के कारण शहर में जब पानी की समस्या बढ़ी तो अधिकारियों की बैठक हुई। 

नहर के बीचों-बीच डाल रखी थी पाइप लाइन 
सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हम तो 75 क्यूसेक्स ही पानी छोड़ रहे हैं। इस पर मनपा अधिकारियों के साथ ही सिंचाई विभाग और पुलिस विभाग ने नहर का दौरा किया तो सामने आया कि तामसवाड़ी पर डब्ल्यूसीएल के ठेकेदार ने एक पुल बना रखा है। यह पुल ट्रक को लाने ले जाने के लिए बनाया गया है। इस पुल की वजह से पानी की गति कम हो रही थी। यही वजह है कि सिंचाई विभाग द्वारा 75 क्यूसेक्स पानी छोड़ने के बाद जब 44 किलोमीटर की नहर पार करने के बाद कन्हान में सिर्फ 45 क्यूसेक्स ही पानी पहुंच रहा था। पानी कम आने के कारण शहर में उत्तर, पूर्व नागपुर की कई सारी बस्तियों में पानी की सप्लाई कम हो रही है। मामले की जानकारी मिलने के बाद नहर से पुल को हटा दिया गया है, जिससे पानी का प्रवाह तेज हो गया है।

 

Loading...
कमेंट करें
hMeSU
Loading...