comScore
Dainik Bhaskar Hindi

यहां आते हैं लोग ऑइल के बाथटब में नहाने

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 03rd, 2019 15:10 IST

2.4k
0
0
यहां आते हैं लोग ऑइल के बाथटब में नहाने

डिजिटल डेस्क। आमतौर पर आपने लोगों को पानी से नहाने के बारे में सुना होगा, ज्यादा हुआ तो लोग दूध का इस्तोमाल भी कर लेते हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में एक ऐसा देश भी है, जहां लोग कच्चे तेल से भरे बाथटब में नहाते हैं। यहां सिर्फ तेल से नहाने के लिए दुनियाभर से लोग आते हैं। चलिए जानते हैं इसके पीछे की वजह क्या है। 

ईरान के पास स्थित देश अजरबेजान के नाफतलान शहर में एक ऐसी जगह है जहां लोग कच्चे तेल से भरे बाथटब में नहाने आते हैं। यहां पर कच्चे तेल का इस्तेमाल अलग-अलग बीमारियां दूर करने के लिए किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि कच्चे तेल में नहाने से 70 से अधिक बीमारियां दूर हो जाती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि क्रूड ऑयल न्यूरोलॉजिकल और स्किन संबंधी समस्याओं के लिए लाभकारी होता है। बीमारी को दूर करने के लिए एक मरीज 40 डिग्री तापमान पर 130 लीटर कच्चे तेल में नहाता है। 


कई लोगों का मानना है कि यहां गर्म तेल में नहाने से उनकी हड्डियों के जुड़ाव में काफी आराम महसूस हुआ। हालांकि तेल से भरे बाथटब में नहाने की समय-सीमा तय की गई है। डॉक्टरों ने बताया कि एक मरीज को एक दिन में सिर्फ एक बार नहाने की परमिशन दी जाती है और वो भी सिर्फ दस मिनट के लिए। इससे ज्यादा लोगों को बाथटब में बैठने नहीं दिया जाता है, क्योंकि उसमें मौजूद अलग-अलग कैमिकल से लोगों के शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। यहां तक कि इंसान की मौत भी हो सकती है। इसका कोर्स दस दिन का होता है। इस हेल्थ सेंटर के डॉक्टरों के अनुसार पिछले कुछ सालों में यहां हजारों लोग अपना इलाज करवा चुके हैं और उन्हें अपनी बीमारी में काफी आराम भी मिला है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download