comScore
Dainik Bhaskar Hindi

सखी सेंटर से युवती के अपहरण की योजना, घटना के पहले आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 11th, 2018 20:08 IST

2.1k
0
0
सखी सेंटर से युवती के अपहरण की योजना, घटना के पहले आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

डिजिटल डेस्क  शहडोल। दिल्ली से अपहृत करके चचाई लाई गई युवती के मामले में नया मोड़ आ गया है। किसी तरह चंगुल से निकलकर अमलाई पुलिस के पास पहुंची युवती को शहडोल स्थित वन स्टॉप सखी सेंटर में रखा गया था। जहां से उसके कथित पति प्रभाकर द्विवेदी द्वारा कुख्यात अपराधियों के साथ मिलकर सेंटर से अपहरण करने की योजना बनाई गई थी, लेकिन योजना को अंजाम तक पहुंचाने के पहले ही कोतवाली पुलिस ने प्रभाकर व उसके 6 अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों के मंसूबे इसी से जाहिर होते हैं कि उनके पास से कट्टा, कारतूस व मादक पदार्थ गांजा पाया गया है।

ज्ञात हो कि एक दिन पहले दिल्ली निवासी युवती ने चचाई एमपीईबी कालोनी निवासी प्रभाकर पर उसके अपहरण करने तथा उसके कुख्यात अपराधियों से मित्रता होने का आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी। युवती के बताए अनुसार प्रभाकर खुद एक अपराधी है, जिसने कई वारदातों को अंजाम दिया था। उसके बयान में कितनी सच्चाई है पुलिस पड़ताल कर रही है।

पकड़े गए आरोपियों पर पहले से दर्ज हैं मामले
कोतवाली पुलिस बगिया होटल के पास रूटीन चेकिंग पर थी। उसी दौरान कार क्रमांक एमपी 65 सी 2262 को बैरीकेट्स लगाकर रोका गया। जिसमें कुल सात लोग बैठे थे। इनमें प्रभाकर द्विवेदी भी शामिल था। कार की तलाशी लेने पर उसकी डिग्गी से 21 किलो 300 ग्राम गांजा तथा शेखर शुक्ला के पास से एक कट्टा व दो जिंदा कारतूस मिला। पुलिस ने प्रभाकर, शेखर सहित संतोष द्विवेदी, सागर चौहान, रमाशंकर कोल, अजय गुप्ता व दानिश मंसूरी को गिरफ्तार कर इनके विरुद्ध 8/20 बी एनडीपीएस एक्ट व 25, 27 आर्म्स एक्ट का प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया।

पुलिस के अनुसार सभी खूंखार किस्म के अपराधी हैं, जिनके विरुद्ध 18 से 20 संगीन प्रकार के मामले दर्ज हैं। पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि वन स्टाप सेंटर से युवती का अपहरण कर कटनी होते हुए दिल्ली ले जाने की योजना थी। जिस पर आरोपियों के विरुद्ध धारा 365, 511 भादवि का इजाफा किया गया। इस कार्रवाई में एएसआई रजनीश तिवारी, दिलीप सिंह, राकेश बागरी, प्रधान आरक्षक रामरतन सिंह, विमल मिश्रा, सुरेश, चंद्रपताप, उमेश, वरुण का सहयोग रहा। एसपी ने कार्रवाई करने वाली टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें