comScore
Dainik Bhaskar Hindi

नीदरलैंड पहुंचे पीएम मोदी, तीन एमओयू साइन

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 20:10 IST

6.8k
0
0
नीदरलैंड पहुंचे पीएम मोदी, तीन एमओयू साइन

एजेंसी, एम्सटर्डम। पीएम नरेन्द्र मोदी तीन देशों की विदेश यात्रा के अंतिम चरण में मंगलवार सुबह नीदरलैंड पहुंचे। डच विदेशमंत्री बर्ट कोएंडर्स ने शिफॉल एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। यहां उन्होंने नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट के साथ औपचारिक बैठक की। रूट के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान दोनों नेताओं ने जलवायु परिवर्तन समझौता और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया। बैठक में दोनों देशों के बीच सामाजिक सुरक्षा, जल संरक्षण और सांस्कृतिक साझोदारी के क्षेत्र में तीन सहमति पत्रों यानी एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं।

पीएम मोदी ने यहां प्रमुख डच कंपनियों के सीईओ के साथ भी बातचीत की। आर्थिक विकास के क्षेत्र में नीदरलैंड को भारत का स्वाभाविक साझेदार बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने डच कंपनियों को देश में निवेश का न्योता देते हुए कहा कि उनकी सरकार द्वारा किए गए सुधारों का लक्ष्य व्यापार को सरल बनाना है। मोदी ने कहा कि रियल स्टेट और रक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित करने के लिए भारत ने 7000 सुधार किए हैं। उन्होंने कहा कि सिंचाई और जल संरक्षण ऐसे क्षेत्र हैं, जहां दोनों देश अपना सहयोग बढ़ा सकते हैं।

पीएम मोदी की डच प्रधानमंत्री के साथ बैठक के बाद एक संयुक्त बयान जारी किया गया। संयुक्त रूप से जारी किये गए बयान में डच प्रधानमंत्री रूट ने कहा कि वैश्विक शक्ति के रूप में भारत का उभरना राजनीतिक और आर्थिक दोनों दृष्टिकोण से स्वागत योग्य है। उन्होंने कहा, राजनीतिक इसलिए क्योंकि हम विधि और सुरक्षा के नियमों का सम्मान करते हैं। उन्होंने नवीनीकरण ऊर्जा और पेरिस जलवायु समझौते के प्रति भारत की प्रतिबद्धता के लिए प्रशंसा की। रूट ने स्वच्छ भारत और मेक इन इंडिया जैसे कदमों के लिए भी पीएम मोदी की प्रशंसा की।

डच पीएम ने कहा कि भारत सरकार के विकास के लक्ष्यों की प्राप्ति में मदद करने वाले प्रमुख सहयोगियों में नीदरलैंड भी है। उन्होंने कहा कि यूरोप भारत का सबसे बड़ा वाणिज्यिक साझोदार है और भारत के निर्यात का 20 प्रतिशत हिस्सा नीदरलैंड होकर ही जाता है। प्रधानमंत्री रूट ने कहा, ऐसे में भारत के लिए हम यूरोप में प्रवेश का द्वार हैं।

संयुक्त बयान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आर्थिक विकास के क्षेत्र में नीदरलैंड को भारत का स्वाभाविक साझेदार बताते हुए आज मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रेजीम (एमटीसीआर) में भारत की सदस्यता के लिए समर्थन करने को लेकर यूरोपीय देश को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि आपके समर्थन के कारण ही भारत को एमटीसीआर की सदस्यता मिली है। बता दें कि भारत बतौर पूर्ण सदस्य पिछले वर्ष एमटीसीआर में शामिल हुआ। एमटीसीआर सदस्यता ने भारत को अत्याधुनिक मिसाइलें खरीदने और रूस के साथ संयुक्त उपक्रमों को बेहतर बनाने में मदद की है।

मोदी तीन देशों की यात्रा के अंतिम चरण में यहां पहुंचे हैं। अमेरिका यात्रा के बाद नीदरलैंड की राजधानी पहुंचने के बाद मोदी ने ट्वीट किया था, नीदरलैंड पहुंच गया हूं। यह बेहद महत्वपूर्ण यात्रा है, जो मूल्यवान मित्र के साथ संबंधों को पक्का बनाएगी। शिपोल हवाईअड्डे पर नीदरलैंड के विदेश मंत्री बर्त कोएंडर्स ने मोदी का स्वागत किया। अपनी एक दिवसीय यात्रा के दौरान मोदी यहां के राजा एलेक्जेंडर और रानी मैक्सिमा से भी मिलेंगे।

गौरतलब है कि इस वर्ष भारत-नीदरलैंड अपने बीच राजनीतिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। पुर्तगाल, अमेरिका और नीदरलैंड की यात्रा शुरू करने से पहले मोदी ने कहा था कि मैं प्रधानमंत्री रूट से मिलने और द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने को लेकर उत्सुक हूं। मैं आतंकवाद-निरोध और जलवायु परिवर्तन सहित विभिन्न वैश्विक मुद्दों पर प्रधानमंत्री रूट के साथ विचारों का आदान-प्रदान करूंगा। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download