comScore

पंजाब में बोले मोदी, 84 पर बयानबाजी करने वाले पित्रोदा को नहीं राहुल गांधी को आनी चाहिए शर्म

पंजाब में बोले मोदी, 84 पर बयानबाजी करने वाले पित्रोदा को नहीं राहुल गांधी को आनी चाहिए शर्म

हाईलाइट

  • राहुल गांधी ने अपने गुरु को डांटने का नाटक किया - मोदी
  • हमारी सरकार ने 84 के दंगों के एख आरोपी को फांसी के फंदे तक पहुंचाया
  • कांग्रेस लीडर सैम पित्रोदा ने कहा था, 84 दंगा हुआ तो हुआ

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। सिख दंगों पर आए कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयान पर सोमवार को पीएम मोदी ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। पंजाब के भठिंडा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 1984 के दंगों पर सैम पित्रोदा को नहीं राहुल गांधी को शर्म आनी चाहिए, मोदी ने कहा कि नामदान ने अपने गुरु को डांटने का नाटक किया। ये बात हमेशा से कांग्रेस के दिल में रही है, बस पित्रोदा ने सार्वजनिक तौर पर कह दी।

पीएम ने कहा,' सिख दंगों को 35 साल हो चुके हैं, लेकिन कांग्रेस की वजह से अब तक पीड़ितों को न्याय नहीं मिल पाया है, कमीशन और कमेटी बनाकर कांग्रेस ने इस गंभीर मामले को रफा-दफा करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि नामदार के गुरु और राजीव गांधी जी के खास सलाहकार ने 84 दंगों पर जो कहा, उसके विरोध में देश भर में प्रतिक्रिया देखने को मिली। मोदी ने कहा कि बादल साहब (प्रकाश सिंह बादल) के आशीर्वाद से मैं आज कह सकता हूं कि 84 दंगों के एक आरोपी को हमने फांसी के फंदे तक पहुंचाया है, कुछ को उम्रकैद भी मिली है, जो बचे हैं उन्हें जल्द सजा दिलाई जाएगी। 

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि इन लोगों ने एक और बड़ी गलती की है, जिसे अब सुधारा जा रहा है, कांग्रेस ने 1947 में बंटवारा तो करवा दिया, लेकिन हमारी आस्था के केंद्र करतारपुर साहिब को पाकिस्तान के हवाले कर दिया। मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में सैनिकों को मिलने वाले विशेषाधिकार को हटाने की बात कही है।

कमेंट करें
4lhcQ